Uncategorized

पेशावर स्कूल अटैकः हमले के सभी दोषियों को फांसी का ऐलान, पाक सेना प्रमुख ने की पुष्टि

Islamabad : पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने सात खूंखार आतंकियों की मौत की सजा पर अपनी मुहर लगा दी. पाक सेना ने बताया कि दिसंबर, 2014 में पेशावर के एक स्कूल पर हमले के बाद गठित विशेष सैन्य अदालत ने उन्हें मौत की सजा सुनायी थी. सेना ने बयान में कहा कि जिन लोगों को दोषी ठहराया गया है, वे निर्दोष लोगों की हत्या, प्रवर्तन एजेंसियों और पाकिस्तान के सशस्त्र बलों पर हमले सहित आतंकवाद से संबंधित संगीन अपराधों में संलिप्त थे.

दिसंबर, 2014  में हुआ था स्कूल पर हमला

गौरतलब है कि पाकिस्तान के पेशावर में एक आर्मी स्कूल में दिसंबर, 2014 को आ‍तंकी हमला हुआ था. छह आतंकी सिक्योरिटी फोर्स की वर्दी में स्कूल में घुसे और गोलीबारी शुरू कर दी थी. इस वक्त स्कूल के अंदर 1500 बच्चे मौजूद थे. पाकिस्तान के स्कूल में आतंकी हमले में 141 लोगों की मौत हो गयी थी, जबकि कुल 245 लोग घायल हुये थे. आतंकियों ने स्कूल में घुसने से पहले बाहर खड़ी गाड़ि‍यों को अपना निशाना बनाया था, फायरिंग और धमाकों के कारण स्कूल की इमारत को भी भारी नुकसान हुआ था. आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान ने हमले की जिम्मेदारी लेते हुए इसे उत्तरी वजीरिस्तान में आर्मी ऑपरेशन जर्ब-ए-अज्ब और ऑपरेशन खैबर-1 का बदला बताया था. यह आर्मी स्कूल पेशावर के बिहारी कॉलोनी के निकट वारसाक रोड पर स्थि‍त है.

advt

इसे भी पढ़ें: बीटल्स गिरोह के पकड़े गये दो आईएस लड़ाके

तहरीक-ए-तालिबान  ने ली थी हमले की जिम्मेदारी

टीटीपी के प्रवक्ता के कहा था कि आतंकियों को स्कूल के बड़े बच्चों को मारने का हुक्म दिया गया था. शुरुआती ऑपरेशन में करीब 1000 बच्चों को स्कूल से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया था. इस ऑपरेशन में पाकिस्तानी पैरामिलिट्री फोर्स के एक जवान की भी मौत हो गयी थी. जबकि एक आतंकी ने खुद को बम से उड़ा लिया था. पेशावर के आर्मी स्कूल पर हमला करने वाले आतंकवादी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान को कई कट्टरपंथी इस्लामिक संगठनों का साझा गठजोड़ माना जाता है. तहरीक-ए-तालिबान का गठन दिसंबर 2007 में हुआ था. जब तालिबान के पाकिस्तान में सक्रिय तकरीबन 13 गुटों ने बैतुल्ला महसूद के नेतृत्व में टीटीपी का गठन किया था. पेशावर में हुये पाकिस्तानी हमले में 6 आतंकी मारे गए थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

 

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: