Uncategorized

पाकिस्तानी गोलाबारी में BSF जवान, बच्चे की मौत

जम्मू: जम्मू एवं कश्मीर में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर सोमवार सुबह नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी गोलाबारी में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के एक जवान एवं एक आठ साल के बच्चे की मौत हो गई। इसमें नौ अन्य लोग घायल हो गए। इस गोलाबारी से 50 गांवों को नुकसान पहुंचा है। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने जवाबी कार्रवाई करते हुए घंटों गोलाबारी की। यह गोलाबारी जम्मू एवं कश्मीर के जम्मू जिले में 230 किमी लंबी सीमा पर कई स्थानों पर रुक-रुक कर सोमवार शाम तक जारी रही।

पुलिस ने कहा कि पाकिस्तानी रेजरों की गोलीबारी और मोर्टार दागे जाने से आवासीय इलाके के दर्जनों घरों, फसलों और सीमाई इलाके में पशुओं को नुकसान पहुंचा है। इसमें एक पुलिस थाना और एक पुलिस वाहन भी क्षतिग्रस्त हुआ है।

पुलिस ने कहा, “नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी रेंजर की भारी गोलाबारी एवं गोलीबारी से बीएसएफ के जवान सुशील कुमार और एक आठ साल के बच्चे की मौत हो गई।”

ram janam hospital
Catalyst IAS

पुलिस ने कहा कि घायलों में सीमा सुरक्षा बल का एक जवान और सात नागरिक शामिल हैं।

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

पुलिस ने कहा, “पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा मोर्टार से दागे गए गोलों से करीब एक दर्जन से ज्यादा घरों को नुकसान पहुंचा है। प्रभावित गांवों में बहुत ज्यादा संख्या में खेतों में गोलों से खड़ी फसलों और सब्जियों को नुकसान पहुंचा है।”

प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तानी रेंजरों की यह गोलाबारी साल 2003 में हुए संघर्ष विराम समझौते का उल्लंघन है।

उन्होंने आरोप लगाया कि पाकिस्तान की तरफ से आर.एस. पुरा, परगवाल और कनाचक क्षेत्रों में तड़के दो बजे से अकारण गोलाबारी शुरू की गई।

लेकिन पाकिस्तानी सेना ने आरोप लगाया कि बीएसएफ के जवानों ने सोमवार को अकारण गोलीबारी में दो नागरिकों की हत्या की दी, जिसमें एक साल की बच्ची शामिल है।

पाकिस्तान के सैन्य मीडिया शाखा, इंटर सर्विसिस पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) ने एक बयान में कहा कि भारत की तरफ से की गई गोलीबारी में एक नागरिक मोहम्मद लतीफ और एक छोटी बच्ची हानिया मारे गए और सात नागरिक घायल हो गए।

जम्मू में पुलिस ने कहा कि हरियाणा के कुरुक्षेत्र के बीएसएफ जवान सुशील कुमार की मौत आर.एस. पुरा सेक्टर में हुई। सुशील साल 1992 में सुरक्षा बल में शामिल हुए थे।

वह बीते तीन दिनों में सीमा पार से की गई गोलाबारी में मारे गए बीएसएफ के दूसरे जवान हैं।

एक कांस्टेबल गुरुनाम सिंह ने रविवार को दम तोड़ दिया। वह शुक्रवार को पाकिस्तानी गोलीबारी का शिकार हो गए थे। गुरुनाम सिंह जम्मू के आर.एस. पुरा के भलेश्वर गांव से थे।

बीएसएफ ने शुक्रवार को एक जवाबी हमले की शुरुआत की थी और सीमा पार के सात पाकिस्तानी रेजरों को मारने का दावा किया था।

पाकिस्तानी गोलाबारी के घरों और खेतों के पास होने से जम्मू की खौर तहसील के सीमाई गांवों के निवासियों और जम्मू जिले के दूसरे स्थानों के लोगों को एक और रात जागकर गुजारनी पड़ी।

भारतीय सेना द्वारा 29 सितम्बर को पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर में की गई सर्जिकल कार्रवाई के बाद दोनों देशों के सीमा बलों के बीच गोलाबारी जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button