Uncategorized

पलामू: माओवादियों का खूनी खेल, पुल निर्माण कंपनी के मुंशी की हत्या, ठप हुआ निर्माणकार्य

Palamu: बुधवार की रात प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी का खूनी खेल सामने आया. माओवादियों ने जिले के हरिहरगंज थाना से महज पांच किलोमीटर दूर हल्का गांव में एक पुल निर्माण की देखरेख कर रहे मुंशी गोविंद चन्द्रवंशी की गोली मारकर हत्या कर दी. घटना के बाद जहां निर्माण कार्य ठप है, वहीं माओवादियों के दस्तक से ग्रामीण और पुलिस सकते में है. गोविंद तरहसी थाना क्षेत्र के ललगड़ा गांव का निवासी था.

इसे भी पढ़ें: गिरिडीह : 10 लाख का इनामी हार्डकोर नक्सली नेमचंद चढ़ा पुलिस के हत्थे

पहले पीटा, फिर मार दी गोली

Catalyst IAS
ram janam hospital

शव

The Royal’s
Sanjeevani

जिला मुख्यालय डालटनगंज से 62 किलोमीटर दूर और हरिहरगंज में एनएच 98 से सटे तेंदुआ-हल्का गांव के बीच बतरे नदी पर बन रहे पुल निर्माण स्थल पर रात करीब नौ बजे डेढ़ दर्जन नक्सलियों ने दस्तक दी और घेराबंदी कर मजदूरों सहित अन्य लोगों को कब्जे में ले लिया. बाद में मजदूरों और गार्ड से गोविंद चन्द्रवंशी की पहचान करायी. इसके बाद नक्सली गोविंद को कब्जे में ले लिया और हाथ बांधकर रॉड से पिटायी शुरू कर दी. पीटते-पीटते माओवादी मुंशी को बतरे नदी में ले गए और वहां उसे पीछे से गोली मार दी. 

माओवादी जिंदाबाद के लगे नारे

ग्रामीणों के अनुसार रात में उन्होंने पिटायी से चिल्लाने और गोली चलने की आवाज सुनी. बाद में हवा में फायरिंग के बाद माओवादी जिंदाबाद के नारे लगाते कुछ लोग चले गए. आवाज से लग रहा था कि उनकी संख्या 10 से 15 के आस-पास रही होगी.

इसे भी पढ़ें: एक करोड़ का इनामी माओवादी नेता अरविंद जी की हार्ट अटैक से मौत !

अपराधियों ने दिया घटना को अंजाम: एसपी

हालांकि एसपी इन्द्रजीत महथा ने बताया कि घटना रात करीब 09.30 बजे रात की है. प्रारंभिक जांच में यह घटना आपराधिक गिरोह के द्वारा रंगदारी नहीं देने के कारण किये जाने की बात सामने आयी है. मामले का जांच जारी है. और जल्द ही खुलासा किया जायेगा. एसडीपीओ छत्तरपुर शंभू कुमार सिंह के नेतृत्व में पूरे कांड की जांच चल रही है. पुलिस ने एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है, क्योंकि वही मृतक को बुलाकर घटनास्थल पर ले गया था. एसपी ने ये भी बताया कि अपराधकर्मी बाइक से आए थे और देशी कट्टे से गोली चलायी गयी. घटनास्थल से .315 का एक खोखा बरामद किया गया है. शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

अंतिम चरण पर था पुल निर्माण

पुल

बतरे नदी पर पुल निर्माण अंतिम चरण पर था. निर्माण कार्य दिसम्बर 2017 से चल रहा था. आशुतोष कंस्ट्रक्शन कंपनी इसका निर्माण करा रही थी और इसके ठेका रामजतन यादव के नाम से था. पुल की छत्त की ढलाई हो गयी थी. रेलिंग का कार्य होना था. निर्माण स्थल पर ही झोपड़ीनुमा घर बनाकर मजदूर और मुंशी रहते थे.

18 अप्रैल को होनी थी मुंशी की शादी

मुंशी गोविंद चन्द्रवंशी की शादी तय हो गयी थी. आगामी 18 अप्रैल को उसकी शादी होनी थी. गोविंद के पिता महेन्द्र राम ने बताया कि घर में शादी की तैयारी चल रही थी. घटना के बाद शादी की खुशियां मातम में बदल गयी है. परिजन और गांववाले दुखी हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button