Uncategorized

पंचायती राज दिवस पर मोदी ने कहा, जन प्रतिनिधि सरकार के सेवक नहीं, जनता की सेवा के लिए हैं

Mandla :  मध्य प्रदेश के पिछडे माने जाने वाले मंडला जिले में पंचायती राज दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को याद करते हुए कहा कि गांधी के सपनों को साकार करने का समय आ गया है. हमें गांधी जी के बताये मार्ग पर चलना चाहिए. यह अवसर आ चुका है. कहा कि हम कुछ अच्छा करने का संकल्प लें तो देश में ग्रामीणों और गांवों के  विकास के लिए बहुत कुछ किया जा सकता है. पीएम मोदी पंचायती राज दिवस पर आयेाजित एक कार्यक्रम में बेाल रहे थे. इस क्रम में कहा कि वे राष्ट्रीय पंचायती दिवस के मौके पर एमपी  आकर खुशी महसूस कर रहे हैं. मोदी ने गांधी बापू के सदर्भ में कहा कि वे हमेशा गांवों के महत्व पर जोर देते रहे. हमेशा ग्राम स्वराज की बात की. याद दिलाया कि बापू ने कहा था कि भारत की पहचान उसके गांवों से है.  ग्रामीणों से कहा कि आपके सपनों के साथ सरकार के भी सपने हैं. ऐसे में आप ठान लें कि हमें शान से जीना है और संकल्प के साथ मरना है. 

इसे भी पढ़ें : कंपनियों को सब्सिडाइज्ड दर पर मिलने वाले कोयला में डस्ट मिलाकर प्रति  रैक 20 लाख की अवैध कमाई कर रहा है लोडर मुन्ना सिंह

पानी की एक-एक बूंद बेहद कीमती है, बर्बाद नहीं करें 

Catalyst IAS
SIP abacus

पीएम मोदी ने पंचायती राज दिवस पर सभी पंचायत के प्रतिनिधियों से आग्रह किया कि वे संकल्प लें कि हमारे गांव में कोई भी बच्चा पढ़ाई से वंचित न रह जाये.  हम जन प्रतिनिधि सरकार के सेवक नहीं है, हम जनता की सेवा के लिए चुनकर आते हैं. कार्यक्रम के तहत पीएम कई योजनाओं का शुभारंभ किया. साथ ही पानी की अहमियत को लेकर प्रधानमंत्री ने कहा, लोगों को इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि आखिर वह पानी के संरक्षण के लिए क्या-क्या कर   सकते हैं. कहा कि पानी की एक-एक बूंद बेहद कीमती है, उसे बर्बाद नहीं किया जाना चाहिए. मोदी ने कहा कि जब ग्रामीण विकास की बाती आती है तो बजट पर बात आती है. हमने   इसमें बदलाव किया है. पीएम ने इसी क्रम में उत्तर पूर्वी राज्यों में सरकार बनाने के संबंध में कहा कि त्रिपुरा में ऐतिहासिक काम करने की बदौलत भाजपा ने वहां सरकार बनाई.

MDLM
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें : नाबालिग रेप मामला : आसाराम बापू पर बुधवार को आएगा फैसला, जोधपुर की सीमा सील, धारा 144 लागू

जन-धन, वन-धन और गोबर-धन से गांवों का विकास संभव 

पीएम मोदी ने आदिवासी विकास योजना, राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान और राष्ट्रीय ग्रामीण स्वरोजगार योजना का शुभारंभ किया. साथ ही मंडला के मनेरी में 120 करोड़ की लागत से एलपीजी बॉटलिंग प्लांट का शिलान्यास भी किया. प्रधानमंत्री ने अमरावती और शहडोल की सरपंच को सम्मानित किया. पीएम मोदी ने कहा जन-धन, वन-धन और गोबर-धन से गांवों का विकास संभव है. इसी से गांवों में समृद्धि आयेगी. उन्होंने कहा कि पहली बार योजनाबद्ध तरीके से आदिवासी वर्ग के लिए काम होंगे. देशभर के 900 से ज्यादा पंचायतों के प्रतिनिधि इस कार्यक्रम में शामिल थे. कार्यक्रम में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी मौजूद थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबु और ट्विट पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button