Uncategorized

‘नमस्ते बिहार’ में देखें गुमराह युवक के संघर्ष की कहानी

Kali Das Pandey

Patna : बिहार की उर्वरक मिट्टी में पलेबढ़े एक निडर और बेबाक नवयुवक डब्लू की कहानी है “नमस्ते बिहार”. डब्लू का किरदार फिल्म में अभिनेता राजन कुमार ने निभाया है. डब्लू बड़ा प्रतिभाशाली और शार्प जेहन का नौजवान है. कुछ सफेदपोश और दबंग लोग उसे गुमराह करके क्राइम की दुनिया से जोड़ देते हैं. कहानी की दिलचस्पी यह है कि डब्लू एक गुमराह युवक जरूर है, लेकिन उसके भी अपने उसूल हैं, अपने आदर्श हैं. गुंडागर्दी के क्षेत्र में रहते हुए भी उसकी अपनी कुछ क्वालिटी है. समाज में लोग उसकी इज्जत भी करते हैं. लेकिन खुद डब्लू रेशमी सिन्हा की बहुत इज्ज्त करता है. रेशमी सिन्हा बिहार से प्यार करने वाली एक सच्ची पत्रकार है, जो बिहार में काम करने के इरादे से दिल्ली से बिहार आती हैं. वह “नमस्ते बिहार” नामक एक बेबाक अखबार की जर्नलिस्ट हैं और डब्लू उनकी लेखनी का दीवाना है.

इसे भी पढ़ें: ‘नमस्ते बिहार’ को मैं अपने कैरियर का टर्निंग पॉइंट मानती हूं : भूमिका कलिता

भ्रष्टाचार को उजागर करता है ये फिल्म

स्कूलों के मिडडे मील के मामले में हो रहे भ्रष्टाचार को उजागर करते हुये सरकार की अच्छी पॉलिसी को इस फिल्म में दर्शाने की कोशिश की गयी है. डब्लू सब कुछ बर्दाश्त कर सकता है लेकिन जब बात बिहार की अस्मिता की हो तो वह किसी भी खतरे को मोल लेने के लिए तैयार रहता है. फिल्म में ऐसी घटनाएं घटती है कि वह बिहार के दुश्मनों के खिलाफ मोर्चा खोल देता है. क्या डब्लू अपने मिशन में कामयाब हो पायेगा? क्या डब्लू और रेशमी की प्रेम कहानी अपने अंजाम तक पहुंचती है? इन सभी सवालों का जवाब जानने के लिए आपको देखनी होगी फिल्म “नमस्ते बिहार” जो पुरे भारतवर्ष के सिनेमाघरों में बहुत जल्द ही रिलीज होने वाली है.

इसे भी पढ़ें: ‘नमस्ते बिहार’ मेरे करियर की बड़ी अग्नि परीक्षा है : अभिनेता राजन कुमार

बिहार टूरिज्म को भी बढ़ावा देने का किया गया है प्रयास

एक्शन और इमोशन से भरपुर इस फिल्म में बिहार की शानदार लोकेशन्स देखने को मिलेगी. भारत को गांवों का देश कहा जाता है और गांव बिहार में हैं. इस फिल्म में गांव के कल्चर को बखूबी दिखाने का प्रयास किया गया है. नालंदा, राजगीर और पटना सहित बिहार के कई स्थानों को लोग देखेंगे. फिल्म को चार कैमरे के सेटअप के साथ 4k में शूट किया गया है, कुछ शॉट्स ड्रोन के जरिए टॉप एंगल से लिए गये है, जिससे बिहार और भी शानदार नजर आता है. इस फिल्म के द्वारा बिहार टूरिज्म को भी बढ़ावा देने का प्रयास किया गया है. बिहार/झारखण्ड के 80 प्रतिशत कलाकारों और टेक्नीशियन्स से सजी यह फिल्म बिहार के लोगों को झारखण्ड के फ्लेवर के साथ बिहारी होने का एहसास जगाएगी, वह गर्व से कहेंगे कि “हम बिहारी हैं”. बिहार वालों के प्रति कुछ नकारात्मक सोच रखने वालों के लिए भी यह फिल्म एक आईना दिखाने का काम करेगी. इस फिल्म का एक गीत बिहार एंथम है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button