Uncategorized

नगर निगम बोर्ड बैठक में पार्षदों का हंगामा, कहा : पुराने परिसीमन पर ही हो 2018 का चुनाव

News Wing

Ranchi, 20 September: रांची नगर निगम बोर्ड की बैठक में एक बार फिर परिसीमन के मुद्दे पर वार्ड पार्षदों ने जमकर हंगामा किया. वार्ड पार्षदों ने एक सुर में कहा कि 2018 में होने वाला नगर निगम चुनाव पुराने परिसीमन के आधार पर ही हो. बुधवार को सुबह 11.45 बजे रांची नगर निगम बैठक शुरु हुई. बैठक शुरू होते ही वार्ड पार्षदों ने परिसीमन को लेकर हंगामा शुरु कर दिया. उन्होंने कहा कि परिसीमन जनप्रतिनिधियों के हक छीनने जैसा है. नाराज पार्षदों ने नगर निगम बोर्ड की बैठक का बहिष्कार कर दिया और बाहर निकल गये.

पुराने परिसीमन पर चुनाव कराने के लिए निगम लिखेगा सरकार को पत्र

advt

पार्षदों का विरोध देखते हुए मेयर आशा लकड़ा और डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय ने हस्तक्षेप किया. उन्होंने कहा पार्षदों की भावना से सरकार को अवगत कराया जायेगा. उन्होंने परिसीमन नहीं बदले जाने के लिए सरकार को पत्र लिखने के बात कही. इसके बाद पार्षदों का गुस्सा शांत हुआ और वे अपनी जगह पर बैठे. इसके बाद बैठक शुरू हो पायी.

यह भी पढ़ेः नगर निगम बोर्ड की बैठक में मानदेय में बढ़ोतरी को लेकर पार्षदों का हंगामा

adv

वार्ड की संख्या घटाए जाने का विरोध

रांची नगर निगम क्षेत्र में अभी कुल 55 वार्ड हैं. निगम क्षेत्र का नया परिसीमन होने पर वार्डों की संख्या घटकर 53 हो जायेगा. पार्षद सीट घटने से नाराज हैं. उनका तर्क है कि रांची नगर निगम क्षेत्र की आबादी काफी बढ़ी है. इस लिहाज से जनता को सुविधाएं देने के लिए और भी ज्यादा वार्डों की जरूरत है, जबकि सरकार वार्डों को और घटने के पक्ष में है. पार्षदों ने मांग की कि 2019 की जनगणना के मुताबिक ही 55 वार्ड रहने दिया जाये.

निकाय के सदस्य अपने अधिकार को लेकर हों जागरूकः महेश पोद्दार

रांची नगर निगम की बैठक में पहली बार शामिल हुए राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार ने वार्ड पार्षदों को संबोधित करते हुए कहा कि नगर निकाय के सदस्य अपने अधिकारों को लेकर जागरूक बनें. अर्बन प्लानिंग, टाउन प्लानिंग, स्लम इम्पावरमेंट के लिए अपने अधिकार का इस्तेमाल करें. उन्होंने कहा कि निगम तभी मजबूत होगा, जब सभी वार्ड पार्षद अपने कार्यों के प्रति गंभीर होंगे. वे अपने क्षेत्र के लोगों की समास्याओं को सुनकर उसका निदान करेंगे. सांसद ने कहा कि अगर पार्षदों को किसी भी तरह की समस्या हो तो वह उन्हें बतायें. उन्होंने पार्षदों को अपना मोबाइल नंबर भी दिया.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: