Uncategorized

देखिये राशन डीलर की दबंगई, लाभुकों को नहीं देती है पूरा राशन, शिकायत करने पर देती है धमकी, डीलर के पति करते हैं मारपीट

ग्रामीणों की शिकायत के बाद दुकान का लाईसेंस रद्द

Pravin kumar

Simdega : सिमडेगा जिला के सिमडेगा प्रखंड स्थित सवैय पंचायत की में डीलर की दबंगई . कम अनाज देने के बावजूद दंबग डीलर सुधा झा का कहना है जाओ जिसे कहना है कह दो, हमें कम अनाज मिलता है, इसलिये लाभुकों को कम अनाज देते हैं. डीसी, बीडीओ, मुखिया और मीडिया को भी बता दो हमें कुछ नहीं होने वाला है. इतना कहने के साथ ही कम अनाज मिलने के विरोध में आवाज उाठने वाले हरीराम प्रसाद से साथ मारपीट भी की गई. यह कोई फिल्म की कहानी नहीं है, बल्कि सिमडेगा जिला की है, जहां संतोषी कुमारी की मौत देनी आयो भात, देनी आयो भात कहते-कहते हो गई थी. उसी जिला के सवैय पंचायत के डीलर की दबंगई का मामला सामने आया, मामला सामने आने के बाद जिला आपूर्ति पदाधिकारी कुमार मंयक ने जनवितरण प्रणाली दुकानदार सुधा झा के दुकान का लाईसेंस रद्द कर दिया है, लेकिन सवाल उठता है कि जिला प्रशासन के समक्ष जब घटना की पूरी जानकारी है तो बस इस आपराधिक मामले में लाइसेंस का निलंबित करना पर्याप्त है.

Catalyst IAS
ram janam hospital

वीडियो साभार सिमडेगा समाचार

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

इसे भी देखें-  आरक्षण का लाभ उन्हीं को, जिनका खतियान में है नाम :  नियोजन समिति की अनुशंसा पर सरकार कभी भी ले सकती है फैसला

कहांं है सवैय गांव

सिमडेगा प्रखंड स्थित सवैय गांव सिमडेगा कुरडेगा मुख्य सड़क पर सिमडेगा से 20 किलोमीटर की दूरी पर मुख्य पथ पर स्थित है. पंचायत के मुखिया शंकर बताते हैं कि वर्तमान समय में पंचायत में तीन जन वितरण प्रणाली के दुकान है, जिसमें एक महिला मंडल के द्वारा संचालित हो रहा है और दो निजी वेंडर को संचालन की जिम्मेदारी थी. पंचायत में पीडीएस डीलर सुधा झा के पास 390, प्रमोद प्रसाद के पास 739, महिला समूह के पास 129 कार्डधारी हैं.

क्या है घटना

13 अप्रैल को जिला के सवैय पंचायत में स्थित सवैय गांव के जनवितरण प्रणाली की दुकान संचालिका सुधा झा अपने आवस पर राशन वितरण कर रही थी. लाभुकों के द्वारा कम अनाज मिलने की शिकायत सुधा झा से रहती थी. राशन संचालिका सुधा झा अक्सर राशन और तेल अलग-अलग दिन वितरण करती थी. जिससे गांव के लाभुक परेशान रहते थे. लाभुक हरेराम प्रसाद अपना राशन लेने के लिय के लिये 13 अप्रैल को डीलर के घर गये और अपना राशन लेने लगे, जब कम अनाज दिया जाने लगा तो लाभुक ने डीलर से कहा आप कुछ लोग को सही और बाकी लोगों को कम अनाज क्यों देते हैं. इतना कहकर लाभुक मामले की वीडियो बनाने लगा. इसे देख सुधा झा भड़क गई और लाभुक हरेराम को धमकाते हुये कहने लगी जाओ जिसे कहना है कह दो, मुखिया, बीडीओ, डीसी और मीडिया को भी कह दो, मुझे कम अनाज मिलता है मैं कम दूंगी. इसके बाद बात बढ़ने पर डीलर पति ने लाभुक के साथ मारपीट की. 

इसे भी देखें- ST में शामिल करने की मांग को लेकर 23 व 29 अप्रैल को कुरमियों का बड़ा आंदोलन, सामने आया यह मतभेद

क्या कहते हैं सवैय के मुखिया

सवैय पंचायत के मुखिया शंकर कहते हैं कि सुधा झा के बारे में लाभुकों को कम अनाज देने की शिकायत अक्सर रहती थीइस संबंध में पहले भी कहा तो वह किसी की बात नहीं सुनती थी. कम अनाज देनी की आवाज उठाने वाले हरेराम प्रसाद के साथ डीलर पति ने मारपीट की. सूचना जिला प्रशासन के पास पहुंचा तो सुधा झा का लाईसेंस रद्द कर दिया गया है. सवैय गांव के पीडीएस लाभुक के द्वारा लिखित शिकायत 13 अप्रैल को अनुमंडल पदाधिकारी सिमडेगा से की गई थी. 

सवैय के ग्रामीणों का कहना है जिस तरह डीलर सुधा झा ने पूरे सिस्टम को चुनौती दी और उसके बाद जिला प्रशासन ने बस लाइसेंस का निलंबन कर खानापूर्ति करने का काम किया है. पीडीएस में अनियमितता को लेकर सरकार गंभीर नहीं है. लाभुकों का अनाज डीलर के द्वारा हड़प लिया जा रहा है.

डीलर पति द्वारा लाभुक के साथ मारपीट के मामले में पूरा गांव एकजुट हो गया है. ग्रामीणों की शिकायत के बाद भी सिर्फ लाईसेंस रद्द किये जाने से लोगों में आक्रोश है. ग्रामीणों ने संयुक्त हस्ताक्षरयुक्त आवेदन देकर एसडीओ से मामले में कार्रवाई की मांग की है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button