Uncategorized

दिसंबर में 823 वर्षो बाद बनेगा दुर्लभ संयोग

रायपुर: अगला महीना दिसंबर ज्योतिष के लिहाज से अद्भुत संयोग लेकर आ रहा है। इस बार दिसंबर महीने में रविवार, सोमवार और मंगलवार पांच-पांच बार आएंगे, और यह संयोग 823 वर्षो बाद घटित हो रहा है। इसको लेकर ज्योतिषियों में भी उहापोह कि स्थिति बनी हुई है।

जानकारी के मुताबिक ज्योतिष विज्ञान में इस तरह के योग का खासा महत्व है। इस बार दिसंबर में बनने वाले समस्त योग देश की राजनीति के लिए हानिकारक संकेत दे रहे हैं, हालांकि कुछ मायनों में यह योग बेहतरी लाने की ओर भी इशारा करते हैं। ज्योतिष शाष्त्रियों के मुताबिक एक ही महीने में सप्ताह के तीन दिवस यदि पांच-पांच बार आते हैं तो देश में उथल-पुथल मचने की संभावनाएं अधिक बनती हैं।

गौरतलब है कि ज्योतिष विज्ञान के मुताबिक सोमवार का महीने में पांच बार आना जहां शुभ माना जाता है, वहीं रविवार का पांच बार आना उग्र स्वभाव का द्योतक है। मंगलवार को चूंकि खर्चीले स्वभाव वाला जाना जाता है, इसलिए महीने में इसके पांच-पांच बार आने से देश के खर्चो को बढ़ाने वाला माना जा रहा है।

पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनाव का परिणाम भी दिसंबर महीने में रविवार के दिन ही आने वाला है। ऐसे में ज्योतिष, राजनीतिज्ञ सहित आम लोगों में इसको लेकर चर्चा होने लगी है।

बेमेतरा के ज्योतिषी अजय शर्मा ने बताया कि दिसंबर में खगोल शास्त्र के अनुसार 12 राशियों में से तीन राशियां सर्वाधिक प्रभावित होंगी। ज्योतिष विज्ञान के अनुसार मेष, सिंह एवं धनु राशि के लोगों के लिए दिसंबर का महीना मुसीबतों से भरा होगा। वहीं कर्क, वृश्चिक एवं मीन राशि वाले जातकों के लिए दिसंबर मध्यम प्रभाव वाला होगा, तथा शेष राशि वाले जातकों के लिए समय ठीक-ठाक रहेगा।

एक अन्य ज्योतिषी गोविंद शास्त्री ने बताया कि दिसंबर महीने में रविवार, सोमवार और मंगलवार के पांच-पांच बार आने का ऐसा दुर्लभ संयोग 823 वर्ष पहले सन् 1190 में आया था।

बहरहाल, आम लोगों का मानना है कि समय अच्छा या खराब तो व्यक्ति के अपने कर्मो पर ही निर्भर करता है, बावजूद इसके देश के राजनितिक हालात को लेकर लोगों के मन में जरूर उत्सुकता बनी हुई है, कि दिसंबर महीना भारतीय राजनीति के भविष्य पर क्या असर डालेगा? – अजीत कुमार शर्मा

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button