Uncategorized

दारोगा को धमकी देने वाले पत्रकार पर एफआईआर, जिस डीएसपी ने फोन पर बात करने को कहा था उसका नाम केस में नहीं

Pakur/Ranchi: न्यूज विंग की खबर का असर एक बार फिर हुआ है. पाकुड़ एसपी शैलेंद्र कुमार बर्णवाल ने मुफस्सिल थाना प्रभारी संतोष कुमार की शिकायत के बाद आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया. जिसके बाद थाना प्रभारी संतोष कुमार ने मुफस्सिल थाना में राष्ट्रीय अखबार के स्थानीय पत्रकार कार्तिक रजक के खिलाफ 384 (जबरन वसूली), 385 (जबरन वसूली के लिए डराना) और 506 (धमकाने) की धारा के तहत केस दर्ज किया है. थाना प्रभारी संतोष कुमार ने बताया कि जैसे दूसरे केस को दर्ज करने के बाद जिस तरीके से कार्रवाई होती है, उसी तर्ज से इस केस में भी कार्रवाई की जाएगी.

Pakur/Ranchi: न्यूज विंग की खबर का असर एक बार फिर हुआ है. पाकुड़ एसपी शैलेंद्र कुमार बर्णवाल ने मुफस्सिल थाना प्रभारी संतोष कुमार की शिकायत के बाद आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया. जिसके बाद थाना प्रभारी संतोष कुमार ने मुफस्सिल थाना में राष्ट्रीय अखबार के स्थानीय पत्रकार कार्तिक रजक के खिलाफ 384 (जबरन वसूली), 385 (जबरन वसूली के लिए डराना) और 506 (धमकाने) की धारा के तहत केस दर्ज किया है. थाना प्रभारी संतोष कुमार ने बताया कि जैसे दूसरे केस को दर्ज करने के बाद जिस तरीके से कार्रवाई होती है, उसी तर्ज से इस केस में भी कार्रवाई की जाएगी. एक थाना प्रभारी होने के नाते केस जितना जल्दी खत्म हो इस बात का ध्यान इस केस में रखा जाएगा.

इसे भी पढ़ें : दारोगा ने एसपी से कहा- डीएसपी के फोन से राष्ट्रीय अखबार के पत्रकार ने दी 24 घंटे में हटाने की धमकी

क्या था मामला

MDLM
Sanjeevani

पाकुड़ मुफस्सिल थाना के थाना प्रभारी संतोष कुमार ने पाकुड़ एसपी शैलेंद्र प्रसाद बर्णवाल को लिखित आवेदन देकर शिकायत की थी. उन्होंने आरोप लगाया था कि डीएसपी श्रवण कुमार के नंबर से कॉल आने के बाद डीएसपी ने पत्रकार कार्तिक रजक से बात करने को कहा. बातचीत के दौरान पत्रकार ने एक साजिश के तहत थाना प्रभारी को फंसाने और 24 घंटे में थाना प्रभारी के पद से हटा देने की धमकी दी थी. अपनी शिकायत में थाना प्रभारी ने यह भी दावा किया था कि इस बात का उनके पास पुख्ता सबूत है. थाना प्रभारी ने अपनी शिकायत में यह भी कहा था कि पत्रकार ने कई बार थाना प्रभारी से व्यक्तिगत रूप से भेंट करने और आर्थिक लाभ पहुंचाने का दबाव बनाए रखता था.

सुनिए डीएसपी के फोन से  पत्रकार ने थाना प्रभारी से कैसे बात की  यहां क्लिक करेंListen_Audio.mp3

इसे भी पढ़ें : पाकुड़ : भाजपा नेत्री ने थाना प्रभारी की कार्यशैली पर उठाए सवाल, सीएम को लिखा पत्र, एजेंट बहाल कर वाहनों से अवैध वसूली का आरोप

केस में नहीं है डीएसपी का नाम

थाना प्रभारी संतोष कुमार ने शिकायत एसपी शैलेंद्र कुमार बर्णवाल से की थी, उसमें इस बात का साफ उल्लेख है कि डीएसपी श्रवण कुमार के मोबाइल नंबर 9006525435 से उनके मोबाइल नंबर 8002281710 पर 23 अप्रैल को करीब 11:13 बजे फोन आया था. फोन रिसीव करने के बाद डीएसपी श्रवण कुमार ने ही थाना प्रभारी को पत्रकार कार्तिक रजत से बात करने को कहा था. बातचीत के दौरान पत्रकार ने थाना प्रभारी को 24 घंटे में तबादला कराने की धमकी दी थी. लेकिन केस दर्ज के दौरान डीएसपी का नाम केस में नहीं डाला गया है. सिर्फ पत्रकार कार्तिक रजक के नाम पर ही मामला दर्ज हुआ है. मामले पर एसपी से बात करने की कोशिश की गयी, लेकिन उनका नंबर नॉटरिचेबल आया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button