Uncategorized

ट्यूमर का ऑपरेशन कराने पहुंची महिला का डॉक्टर ने निकाल दी बच्चेदानी

Muzaffarpur : मुजफ्फरपुर के एक निजी अस्पताल में ट्यूमर का ऑपरेशन कराने गयी महिला का डॉक्टर ने बच्चेदानी निकाल दी. मामले की जानकारी तब हुयी जब महिला चार महीने बीतने के बाद भी गर्भवती नहीं हुयी. जब महिला व उसके परिजन मामले की शिकायत लेकर नर्सिंग होम पहुंची तो चिकित्सक ने अभद्र व्यवहार कर उन सबको भगा दिया. मामले की जानकारी मिलने के बाद आक्रोशित लोगों ने जमकर हंगामा किया. मामला मुजफ्फरपुर के सकरा थाना कॉलेज गेट के समीप स्थित एक निजी नर्सिंग होम की है.

इसे भी पढ़ेंः शराब माफिया सोनाराम साहू के घर के भीतर तहखाने में भी हजारों लीटर शराब, निकालने के लिए लगाना पड़ेगा टुलू पंप

इसे भी पढ़ेंः रांची पुलिस की छापेमारी में सामने आया शराब का तालाब (देखें वीडियो)

ram janam hospital
Catalyst IAS

दिल्ली में जांच के दौरान बच्चेदानी निकालने की मिली जानकारी

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

महिला ने बताया कि जब से ऑपरेशन किया गया तब से बुखार लग रहा था. पेट में दर्द तेज होने पर दिल्ली में जांच करायी. जांच में पता चला कि ऑपरेशन कर बच्चेदानी निकाल दी गयी है. मामले की जानकारी जब महिला के पति विजय साह हुयी तो सभी दिल्ली के मुजफ्फरपुर के सकरा पहुंचे. महिला ने बताया कि नर्सिंग होम के आयुष चिकित्सक सुधीर कुमार ट्यूमर के ऑपरेशन की बात कहकर नौ अक्टूबर को ऑपरेशन के लिए बुला लिया. करीब सात दिनों तक अस्पताल में रखा. उसके बाद उसे टांका कटने के बाद घर लौटा दिया. महिला तथा उसके परिजनों को यह बात नहीं बतायी गयी कि उसका बच्चेदानी निकाल दी गयी है.

इसे भी पढ़ेंः होली से पहले बस यात्रियों को झटका, किराये में 20 प्रतिशत की बढ़ोतरी, कहां जाने के लिए कितना लगेगा, देखें चार्ट

ऐसे चिकित्सकों पर हो कार्रवाई : बैद्यनाथ साह

पीड़िता सुनैना के पिता बैद्यनाथ साह घटना की जानकारी मिलने के बाद से काफी गुस्से में हैं. वे इस तरह के नर्सिंग होम के चिकित्सकों पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. उनका कहना है कि अब मेरी बेटी मां नहीं बन पाएगी. उसकी उम्र अभी 30 वर्ष हुयी है. उसका जीवन तो अंधकारमय हो गया.

इसे भी पढ़ेंः 2019  में  प्रशांत किशोर दुबारा मिला सकते हैं मोदी से हाथ, कयासों का बाजार गर्म 

डॉक्टर ने माना गलती हुयी है

नर्सिंग होम के चिकित्सक सुधीर कुमार का कहना है कि 9 अक्टूबर को महिला का ऑपरेशन किया गया था. ऑपरेशन डॉ. पीएन सिंह ने किया है. डॉ सुधीर कुमार ने मरीजों के हंगामे को सही ठहराया. उन्होंने पीड़ित को राशि लौटने की बात कही.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button