Uncategorized

जिन्दगी से दूर रखना है डिप्रेशन तो कर लें शादी – रिपोर्ट

Washington : एक कहावत है कि शादी का लड्डू जो खाये वो भी पछताये और जो ना खाये वो भी पछताये. हालांकि एक अध्ययन में जो बात सामने आयी है, उससे शादी करने के बाद किसी तरह का पछतावा नहीं होने के संकेत मिलते है. इस अध्ययन के अनुसार शादी करने से अवसाद कम हो सकता है.

Advt

इसे भी पढ़ें: गूगल ने भारत के पहले सुपरस्टार सहगल को उनके 114 वें जन्मदिन पर डूडल के जरिये किया याद

ज्यादा कमाने वाले अविवाहित लोग, डिप्रेशन के शिकार

अध्ययन के मुताबिक जो लोग शादी करते हैं और जिनकी प्रतिवर्ष कुल घरेलू आय 60 हजार अमेरिकी डॉलर से कम है, उनमें अच्छा कमाने वाले अविवाहित लोगों की तुलना में अवसाद के लक्षण कम पाये गये है. हालांकि, अमेरिका में जॉर्जिया स्टेट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के मुताबिक, अधिक कमाई वाले जोड़ों के लिए, शादी से उसी तरह के मानसिक स्वास्थ्य लाभ नहीं दिखते है. जर्नल सोशल साइंस रिसर्च में प्रकाशित एक अध्ययन में यह बात कही गयी है.

 

्ि्ि्ुिु

 

इसे भी पढ़ें: ‘हैरी पॉटर एंड द कर्स्ड चाइल्ड’ ने रचा इतिहास, बना सबसे अधिक कमाई करने वाला नाटक

विवाहित लोगों में कम पाये जाते है डिप्रेशन के लक्षण

शोधकर्ताओं ने एक राष्ट्रीय अध्ययन से आंकड़ों की जांच की जिसमें अमेरिका में 24 से 89 वर्ष की आयु में 3,617 वयस्कों के साक्षात्कार शामिल थे और ये कई सालों से विशिष्ट अंतराल पर लिये गये थे. इस सर्वेक्षण में सामाजिक, मनोवैज्ञानिक, मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य विषय शामिल हैं. जार्जिया स्टेट के एक सहायक प्रोफेसर बेन लेनोक्स कैल ने कहा कि जो लोग विवाहित है और जो एक वर्ष में 60 हजार अमेरिकी डालर से कम कमाई करते है उनमें अवसाद के कम लक्षण दिखाई देते है.

 

23254365

 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Advt

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button