Uncategorized

गिरिडीह में तीन दिवसीय फाइलेरिया मुक्ति अभियान शुरू किया गया

गिरिडीह: झारखण्ड को फाइलेरिया मुक्त करने के उद़देश्य को लेकर गुरूवार को गिरिडीह जिले में फाइलेरिया दिवस के अवसर पर दो दिवसीय फार्इलेरिया मुक्त अभियान शुरू किया गया। जिला अस्पताल में अभियान की शुरूवात सिविल सर्जन डॉ चन्द्र प्रकाश विभाकर, प्रभारी मलेरिया पदाधिकारी एस सान्याल ने खुराक देकर की। इस मौके पर सीएस डॉ विभाकर ने कहा कि झारखण्ड के 17 जिलों में अभियान चलाया जा रहा है जिसमें गिरिडीह भी शमिल है। सीएस ने कहा कि जिले मे सभी 24 लाख लोगों को दवा की खुराख देने का लक्ष्य है। फार्इलेरिया की दवा के साथ किर्मी नाशक दवा भी दी जा रही है। उन्होंने कहा कि दवा की खुराख दो साल से अधिक उम्र के शिशु और बडों की दी जानी है। गर्भवती महिलाएं और गंभीर रोगियों को दवा नहीं देनी है। बताया गया कि जिले के सभी 13 प्रखण्डों में सत्रह सौ सेन्टर बनाये गये हैं। इसके अलावा स्वास्थ कार्यकर्ता घर घर जाकर भी दवा देने का काम करेंगे। कार्यक्रम में डॉ कमलेश्‍वर प्रसाद, मलेरिया निरीक्षक नंद किशोर झा, अवध किशोर शर्मा, मलेरिया विभाग के मुकेश कुमार, प्रधान सहायक मुजाहिद इमाम व अन्य लोग उपस्थित थे।

गिरिडीह नगरपर्षद की आमदनी बढाने के लिए बैठक सम्पन्न

गिरिडीह: गिरिडीह नगर र्पाद बोर्ड की एक महत्वपूर्ण बैठक बोर्ड के अध्यक्ष दिनेश यादव की अध्यक्षता में हुर्इ। बैठक में बोर्ड की आमदनी बढाने को लेकर कर्इ अहम फैसले लिए गये। बैठक में उपाध्यक्ष राकेश कुमार मोदी कार्यपालक पदाधिकारी कौश्‍लेश कुमार यादव सहित बोर्ड के अन्य सदस्य उपस्थित थे। बताया गया कि विभिन्न श्रोतों से अधिभार वसूलने एवं नये कर लगाकर राजस्व बढाने का प्रस्ताव पारित किए गये। बताया गया कि नये प्रस्तावों के अनुसार बोर्ड को सलाना एक करोड की अतिरिक्त आमदनी होने का अनुमान है। वर्तमान में नप का सलाना स्थापना खर्च साढे तीन करोड के लगभग है और आमदनी सवा करोड के करीब है। ोा सरकार द्वारा वेतन मद में दी जाने वाली राशि से भरपार्इ होती है।

ram janam hospital
Catalyst IAS

इस बैठक में शहर में केवल ऑपरेट्र से सलाना 25 हजार, सिनेमा हॉल प्रबंधकों से 25 हजार, परिवहन कार्यालय से 12 लाख, निबंधन कार्यालय से साठ लाख, सेल टेक्स और बिजली विभाग से 24-24 लाख नगर पालिका एक्ट 2011 के तहत् अधिभार के रूप में वसूली करने का प्रस्ताव पारित किया गया। होटल और रेस्टोरेंट संचालकों से प्रति र्वा 5000 रूपया और शहर में फेरी वालों को अब नप से सलाना 100 रूपया का भुगतान का अनुज्ञप्ति लेनी होगी। आज की बैठक में वैसे मोबाइल टावर जिन्हें नप के द्वारा एनओसी प्राप्त नहीं है। उन सभी टावर कम्पनियों के खिलाफ पालिका एक्ट 2011 के तहत पारित किया गया। बताया गया कि हर में  कुल 58 में से 18 मोबाइल टावर कम्पनियों ने ही नप से एनओसी प्राप्त किया है। आज की बैठक में 01 अप्रैल 2014 से ाहर में माल वाहक वाहनों से प्रवेश ाुल्क लगेगा। आज की बैठक में वैसे होल्डीग धारक जो अग्रिम भुगतान करेंगें उन्हें 2 फिसदी छूट का प्रस्ताव भी पारित किया गया वहीं समय सीमा के बाद होंल्डिग कर का भुगतान करने वालों को 4 फिसदी जुरमाना देना होगा।

The Royal’s
Sanjeevani

– रिपोर्ट: कमल नयन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button