Uncategorized

खूंटी में नॉलेज-सिटी निर्माण को प्राथमिकता दे विभाग – अर्जुन मुंडा

राँची: मुख्यमंत्री अर्जुन मुण्डा ने कहा कि उच्च्तर शिक्षा के क्षेत्र में अध्ययन के विस्तार की अपेक्षा ज्यादा चिंता गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की होनी चाहिए। वे आज अपने आवास पर ग्रेटर राँची डेवलपमेंट ऑथोरिटी (जीआरडीए) की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

उन्होंने जीआरडीए के पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि उच्चतर शिक्षा की गुणात्मकता एवं विश्‍व स्तरीय शैक्षणिक मानकों का ध्यान रखते हुए खूँटी में नॉलेज सिटी के निर्माण को प्राथमिकता दें। उन्होंने यथाशीघ्र इसका प्लान एवं लेआउट तैयार करने के साथ-साथ डेवलपमेंट प्लान तैयार करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि इसे एक ऐजुकेशन हब के रूप में विकसित किया जाना है अतएव संबंधित कंसल्टेंट इस बात का विशेष ध्यान रखेंगे कि मानक उच्च स्तरीय संस्थाओं के अनुरूप नॉलेज सिटी की अधिसंरचना तैयार हो एवं आवश्‍यक परिसंरचनाएं इस अनुरूप विकसित की जाएं ताकि भविष्य की उच्चतर शिक्षा की जरूरतें एक ही स्थान पर सुलभ हों। उन्होंने जीआरडीए के अधिकारियों से कहा कि वे मगरपट्टा, पुणे एवं बंगलूरू के शैक्षणिक परिवेश के उदाहरण को भी ध्यान में रखें।

उक्त बैठक में जीआरडीए के बजट, आवश्‍यक्‍तानुरूप आकलन कर यथेष्ट संख्या में पदों पर नियुक्ति, नियमों/परिनियमों में संषोधन के संबंध में भी चर्चा हुई। उक्त बैठक में राज्य के मुख्य सचिव, एस के चौधरी, विकास आयुक्त, देवाशीष गुप्ता, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव, डा डीके तिवारी, जीआरडीए के प्रबंध निदेशक श्री अविनाश कुमार सहित जीआरडीए एवं जिन्फ्रा के पदाधिकारीगण उपस्थित थे। बताते चलें कि खूंटी के इस प्रस्‍तावित नॉलेज सिटी के लिए टाटा ग्रूप ने भरपूर सहयोग का आश्‍वासन दिया है।

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: