Uncategorized

खूंटी में जबरदस्त तनाव के बीच प्रशासन का फैसला, 388 ट्रेनी दरोगा संभालेंगे कानून-व्यवस्था, तुरंत खूंटी रवाना होने का आदेश

Khunti:  सामूहिक दुष्कर्म और पत्थलगड़ी नेता युसुफ पूर्ति के आवास पर रेड, पत्थलगड़ी समर्थकों पर लाठीचार्ज और भाजपा सांसद कड़िया मुंडा के तीन गार्डों के ले जाने के बाद खूंटी में तनाव काफी बढ़ गया है. सांसद करिया मुंडा के तीन गार्डों की रिहाई को लेकर पुलिस ने बुधवार सुबह लाठीचार्ज किया. आंसू गैस के गोले छोड़े. इसमें एक ग्रामीण मारा गया, सैंकड़ो ग्रामीणों को हिरासत में लिया गया है. घाघरा गांव में पुलिस ने घर-घर सर्च अभियान चलाया. पूरे ईलाके में कोहराम मचा है. खूंटी जल रहा है.

इसे भी पढ़ेंःखूंटी : पुलिस-पत्थलगड़ी समर्थकों की झड़प में एक की मौत, 50 से ज्यादा हिरासत में

388 ट्रेनी दरोगा को खूंटी में किया गया प्रतिनियुक्त, सुधारेंगे विधि व्यवस्था

खूंटी जिले में असमाजिक तत्वों दवारा किये जा रहे पत्थलगड़ी के कारण उत्पन्न  विधि व्यवस्था की समस्या को देखते हुए 388 प्रशिक्षणरत दरोगा को खूंटी में तीन दिनों के लिए पदस्थापित किया गया है. वे 1 जुलाई को पुनः हजारीबाग स्थित पुलिस ट्रेनिंग अकादमी में लौट जाएंगे. खूंटी एसपी के अनुरोध के बाद में अवर पुलिस निदेशक अभियान ने झारखंड पुलिस अकादमी, हजारीबाग को आदेश दिया है कि बिना किसी विलंब के 388 ट्रेनी दरोगा को खूंटी रवाना किया जाय. सभी 388 दारोगा खूंटी के लिए निकल चुके हैं.

इसे भी पढ़ेंःड्राइवर की जुबानी सुने खूंटी गैंगरेप की पूरी कहानी

एक हजार से ज्यादा जवान मोर्चे पर डटे

खूंटी के तनावग्रस्त घाघरा गांव में करीब एक हजार सुरक्षाबलों के जवान मोर्चे पर डटे हैं. पत्थलगड़ी समर्थकों से महज 100 मीटर की दूरी पर पुलिस ने मोर्चेबंदी की और हथियारों के साथ अपना-अपना पोजिशन ले रखा है. दूसरी तरफ पत्थलगड़ी समर्थक महिला-पुरुष भी पारंपरिक हथियार के साथ मोर्चेबंदी किए हुए थे. पत्थलगड़ी समर्थकों में नेता जॉन जुनास तिड़ू व युसूफ पूर्ति भी शामिल थे. पत्थलगड़ी समर्थकों की ओर से महिलाएं लीड कर रही थीं.

खूंटी में जबरदस्त तनाव के बीच प्रशासन का फैसला, 388 ट्रेनी दरोगा संभालेंगे कानून-व्यवस्था

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button