Uncategorized

खूंटी : डायन करार कर पहले घर में किया तोड़-फोड़, फिर महिला को पीटा और जंगल में ले जाकर किया गैंगरेप

Khunti  : जिला में एक महिला पर डायन होने का आरोप लगा कर पहले तो उसके घर में तोड़-फोड़ की गयी. फिर उस महिला को जंगल में ले जाकर सामुहिक दुष्कर्म भी किया गया. घटना खूंटी के मुरहू थाना क्षेत्र के बाड़ी गांव की है. बता दें कि यह घटना सात फरवरी को घटी. वहीं आठ मार्च को पीड़िता ने कुल दस लोगों के खिलाफ मुरहू थाना में मामला दर्ज कराया है. यह मामला शनिवार को प्रकाश में आया है. मामले को लेकर खूंटी के एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा ने कहा कि अभी रिपोर्ट नहीं मिली है. अनुसंधान जारी है. आरोपियों को जल्द पकड़ा जायेगा.

Khunti  : जिला में एक महिला पर डायन होने का आरोप लगा कर पहले तो उसके घर में तोड़-फोड़ की गयी. फिर उस महिला को जंगल में ले जाकर सामुहिक दुष्कर्म भी किया गया. घटना खूंटी के मुरहू थाना क्षेत्र के बाड़ी गांव की है. बता दें कि यह घटना सात फरवरी को घटी. वहीं आठ मार्च को पीड़िता ने कुल दस लोगों के खिलाफ मुरहू थाना में मामला दर्ज कराया है. यह मामला शनिवार को प्रकाश में आया है. मामले को लेकर खूंटी के एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा ने कहा कि अभी रिपोर्ट नहीं मिली है. अनुसंधान जारी है. आरोपियों को जल्द पकड़ा जायेगा.

इसे भी पढ़ें – अवैध कमेटी की अनुशंसा पर डीजीपी ने एसपी आवास में महिला सिपाही का यौन शोषण करने वाले सार्जेंट व रीडर को किया निलंबन मुक्त !

ram janam hospital
Catalyst IAS

क्या है मामला

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

दरअसल, खूंटी में बच्चे लगातार बीमार हो रहे थे. इसके लिए ग्रामसभा ने उक्त महिला को डायन करार कर दिया. इसी क्रम में गांव के लोग सात फरवरी को हरवे-हथियार से लैस हो कर ग्रामीण महिला के घर में घुस गये. उसके घर में जम कर तोड़-फोड़ की. उसे पीटा भी, फिर जबरदस्ती उसे उठा कर जंगल में ले गये और सामूहिक दुष्कर्म किया. लगभग एक दर्जन से अधिक लोगों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया. वहीं जुबान खोलने पर जान से मारने की धमकी दी.

इसे भी पढ़ें – जामताड़ा एसपी का रीडर महिला सिपाहियों से कहता था – खुद को मुझे सौंप दो, अच्छी पोस्टिंग करवा दूंगा

बेटी-दामाद के साथ रहती है पीड़ित महिला

पीड़ित महिला अपने बेटी-दामाद के घर आयी हुइ थी. वह बीते आठ महीने से उनके साथ रह रही थी. घटना के बाद से भयभीत पीड़िता के परिजन मुरहू थाना में शरण लिए हुए हैं. वहीं, पीड़ित महिला को इलाज के लिए रिम्स में भर्ती कराया गया. पीड़िता के बयान पर मुरहू थाने में नौ लोगों के खिलाफ नामजद और अन्य अज्ञात के खिलाफ  मामला दर्ज कराया गया.  घटना को प्रकाश में आये चार दिन बीत गये पर पुलिस अब तक किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर सकी है.

इसे भी पढ़ें – सार्जेंट मेजर व रीडर पर यौन शोषण का आरोप लगाने के बाद जामताड़ा के पुलिस अफसरों ने महिला सिपाही को चोरी के केस में फंसा कर सस्पेंड किया !

पीड़िता के दामाद के घर से खस्सी, नगत सहित अन्य सामान ले गये आरोपी

एफआईआर के अनुसार  पीड़िता की बेटी और दामाद ने बताया कि दो सप्ताह पहले ग्रामसभा ने पीड़ित महिला को डायन करार दिया था़.  गांववालों का आरोप था कि उस महिला की वजह से ही  गांव के  बच्चे बीमार हो रहे हैं. सात मार्च की रात करीब 9:30 बजे पारंपरिक हथियारों से लैस गांव के सनिका मुंडा, मेगन मुंडा, सिंगसोंग मुंडा, बाया मुंडा, मांझी मुंडा, सोने पान, गाड़ी पान, सिगिन मुंडा, रमाय मुंडा  व अन्य लोग   जबरन घर में घुस गये. फिर पीड़ित महिला को डायन कह जंगल में ले गये. वहां उनकी पिटाई की गयी. फिर  सिगिन मुंडा, रमाय मुंडा, गाड़ी पान और एक अन्य अज्ञात व्यक्ति ने उनके साथ दुष्कर्म  किया. आरोपियों ने पीड़ित महिला के दामाद के घर से एक खस्सी, 30 हजार रुपये समेत अन्य सामान भी ले गये. 

इन पर है FIR

पीड़ित महिला ने गांव के सनिका मुंडा, मेगन मुंडा, सिंगसोंग मुंडा, बाया मुंडा, मांझी मुंडा, सोने पान, गाड़ी पान, सिगिन मुंडा और रमाय मुंडा के खिलाफ एपआईआर दर्ज कराया है.  

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button