Uncategorized

करणी सेना ने बदले सुर, कहा- अब नहीं करेंगे पद्मावत का विरोध

Mumbai : संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत के विरोध में हिंसक विरोध प्रदर्शन करने वाली करणी सेना ने ऐलान किया है कि अब वह इस फिल्म का विरोध नहीं करेंगे. फिल्म में विवादित कंटेंट को लेकर सड़कों पर उतरी करणी सेना ने एक पत्र जारी कर अपने इस ऐलान की घोषणा की है. श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना- महाराष्ट्र के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष योगेंद्र सिंह कटार ने एक पत्र जारी करते हुए लिखा कि उन्होंने 2 फरवरी को पद्मावत देखी, जिसमें राजपूतों की वीरता और त्याग का बहुत सुंदर चित्रण किया गया है. यह फिल्म रानी पद्मावती की महानता को समर्पित है. हालाकि करणी सेना के विरोध प्रदर्शन के बावजूद 25 जनवरी को रिलीज हुई, फिल्म पद्मावतबॉक्स ऑफिस पर तगड़ी कमायी कर रही है. 

Sanjeevani

करणी सेना के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष योगेंद्र सिंह कटार ने जारी किया पत्र

MDLM

श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना- महाराष्ट्र के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष योगेंद्र सिंह कटार ने एक पत्र जारी करते हुए लिखा कि इस फिल्म में रानी पद्मावती और अलाउद्दीन के बीच कोई भी सीन नहीं है. इस फिल्म में ऐसा कुछ नहीं है जो राजपूत समाज के इतिहास और भावनाओं को नुकसान पहुंचाये हम इस फिल्म को लेकर पूरी तरह से संतुष्ट हैं. इसलिए हम हमारा आंदोलन / विरोध बिना शर्त वापस लेते हैं. इस बात का आश्वासन देते हैं कि हम इस फिल्म को राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश और भारत के सभी सिनेमा घरों में प्रदर्शित करने में आपका और फिल्म वितरकों का सहयोग करेंगे.

इसे भी पढ़ें: पीएम मोदी के लिए अक्षय ने रखी स्पेशल स्क्रीनिंग, साथ देखेंगे ‘पैडमैन’

9 दिनों में ही फिल्म ने कमाये 150 करोड़

बता दें कि फिल्म ने अपनी रिलीज के महज 9 दिनों में ही फिल्म ने 150 करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया है. यह आंकड़ा भी ऐसे हालात में है जब कई राज्यों में फिल्म वितरकों और सिनेमाघर मालिकों ने प्रदर्शनकारियों की धमकियों के चलते फिल्म अपने यहां रिलीज ही नहीं होने दी. अब गुजरात, हरियाणा, महाराष्ट्र , मध्य प्रदेश समेत कुछ अन्य राज्यों में भी सभी सिनेमाघरों में जब खुलकर यह फिल्म रिलीज होगी तो फिल्म का कलेक्शन और बढ़ेगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button