Uncategorized

एचइसी के निजीकरण का वामदल ने किया विरोध, कहा- सरकार का यह दिवालियापन फैसला होगा

Ranchi : केंद्र सरकार द्वारा एचइसी को निजीकरण किये जाने की खबर के बाद पक्ष-विपक्ष सभी राजनीतिक दलों के बीच खलबली मच गयी है. इस खबर पर कोई निंदा तो कोई एचइसी को निजीकरण नहीं किये जाने की अनुरोध कर रहा है. बयान-बाजी के बीच अब लोग सड़क पर भी उतरकर विरोध और प्रदर्शन कर रहे हैं. सीपीआई (एम) झारखंड ईकाई के नेता प्रकाश विप्लव ने कहा कि एचईसी झारखंडवासियों की अस्मिता के साथ जुड़ा है. स्पष्ट है कि केंद्र की सरकार 2019 से पहले ही तमाम पब्लिक सेक्टर को कारपोरेट के हाथों सौपना चाहती है. इसके खिलाफ वामदल एकजुट होकर इसका विरोध करेगा.

इसे भी पढ़ें: रांची:  दो साल से चल रहा था देह व्यापार का धंधा, स्टेशन रोड के होटल अवतार से पांच चढ़े पुलिस के हत्थे

केन्द्र सरकार को दी चेतावनी

उन्होंने केंद्र सरकार चेतावनी देते हुए कहा कि ऐसा करने की सरकार सोचे भी नहीं, क्योंकि हजारों मजदूर-वर्कर बेघर हो जायेंगे. उधर माकपा माले भुनेश्वर केवट ने एचइसी को निजीकरण किए जाने कड़ी निंदा की है. उन्होंने कहा कि अगर ऐसा होता है तो सरकार का यह दिवालियापन फैसला होगा. कहा कि सरकार एचइसी को कृत्रिम तरीके से बिमार बनाने में लगी हुई है. एचइसी की समृद्धी ही देश और जनता की समृद्धी है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button