Uncategorized

एक क्लास मिस किया तो संत जेवियर्स कॉलेज ने फॉर्म भरने से रोका, बर्बाद होगा छात्र का एक साल

Ad
advt

Ranchi : यूजीसी गाईडलाइन के हिसाब से किसी भी कॉलेज में  सभी विषयों में 75 प्रतित अटेंडेंस अनिवार्य होता है. पर क्या अगर एक विषय के लिए कुल विषय जिनका संचालन किया गया, वो मात्र दस हो या उससे भी कम हो तो क्या कहा जाएगा. ऐस स्थिति में यदि कोई भी छात्र मात्र एक या दो कक्षा मिस कर दे तो क्या उस छात्र का पूरा एक साल बर्बाद हो जाना उचित है. इस सवाल पर किसी का भी जवाब ना ही होगा.

लेकिन संत जेवियर्स कॉलेज के जियोलॉजी विभाग के अंतिम वर्ष के दो छात्रों के साथ कुछ ऐसा ही हुआ है. अब नौबत साल बर्बाद होने की आ गयी है. दरअसल कुल सात क्लास हुए, मगर दोनों छात्र पांच ही क्लास अटेंड कर पाय और अब वे महज एक क्लास नहीं कर पाने के वजह से एक साल कुछ नहीं कर पाएंगे. उन्हें अब परीक्षा देने के लिए एक साल का इंतजार करना पड़ेगा.
 

advt

इसे भी पढ़ें – लालू यादव के भर्ती होने के बाद रिम्स में बढ़ी मरीजों की परेशानी, सुरक्षा जांच के बाद ही अंदर जाने की अनुमति

क्या है मामला
संत जेवियर्स कॉलेज के बीएससी के दो छात्रों को फाइनल परीक्षा देने से रोक दिया गया है. संबंधित विषय के प्रैक्टीकल के लिए कुल 7 कक्षायें आयोजित की गई थीं. इनमें से दोनों ने कुल 5 क्लास अटेंड  किया तो कुल 71 प्रतिशत हुआ. अगर आठ कक्षायें हुई होतीं और दोनों 6 क्लास अटेंड कर लेते तो इन दोनों की अपस्थिति कुल 75 प्रतिशत हो जाती. ऐसे में जाहिर है कि मात्र एक क्लास के लिए दोनों छात्रों का एक साल बर्बाद हो जाएगा.

इसे भी पढ़ें – कौन गटक जा रहा सेल बोकारो के ठेका मजदूरों का दो करोड़ आठ लाख अस्सी हजार रुपये प्रतिमाह, केंद्रीय मजदूरी दर से भी हैं वंचित
 

हर साल करीब 10 प्रतिशत छात्रों का हो जाता है इयर लॉस
संत जेवियर्स कॉलेज एक ऐसा कॉलेज है, जहां हर साल करीब 10 प्रतित छात्रों का एक साल सिर्फ एक या दो क्लास नहीं करने की  वजह से बर्बाद हो जाता है. साथ ही सेमेस्टर परीक्षाओं के दौरान अपना अटेंडेंस का मामला सुलझाने सभी स्टूडेंटस प्रिंसिपल कार्यालय और परीक्षा नियंत्रक  के दरवाजे तक दौड़ लगाते दिखाई देते हैं. संत जेवियर्स कॉलेज रांची को नैक ने ए ग्रेड कॉलेज की श्रेणी में रखा है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

advt

advt
Adv

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: