Uncategorized

इस सप्ताह आएगी नई हज नीति, हज यात्रियों को समुद्र मार्ग से भेजने पर विचार

News Wing

New Delhi, 01October: केंद्र सरकार विमान के अलावा अन्य मार्गो से भी हज यात्रियों को सऊदी अरब भेजने के लिए इस सप्ताह नई हज यात्रा नीति लेकर आ सकती है.

अगले साल से लागू किया जाएगा यह नीति

Chanakya IAS
SIP abacus
Catalyst IAS

सरकार के सूत्रों ने बताया कि इस नीति की अहम बात दो दशक से ज्यादा के अंतराल के बाद हज यात्रियों को समुद्र मार्ग से जेद्दा भेजने के विकल्प को पुनर्जीवित करना होगा. समझा जाता है कि इस नीति को अगले साल से लागू किया जाएगा.

The Royal’s
Sanjeevani
MDLM

मुंबई से जेद्दा भेजने के विकल्प पर विचार किया गया

उच्चतम न्यायालय ने 2012 के अपने आदेश में हज यात्रियों को विमान के किराए में दी जाने वाली सब्सिडी को वर्ष 2022 तक खत्म करने के लिए कहा था. इसके बाद हज यात्रियों को तटीय शहर मुंबई से जेद्दा भेजने के विकल्प पर विचार किया गया.

सरकार का मानना है कि समुद्र मार्ग से यात्रा का खर्च कम होगा

सूत्रों ने बताया कि हालांकि मुस्लिम दिल्ली और मुंबई समेत देश के 21 हवाईअड्डों से विमान के जरिए श्रद्धालु मक्का मदीना जा सकेंगे. उन्होंने बताया कि नीति में यह भी जोड़ा गया है कि एक व्यक्ति जीवन में एक बार ही हज यात्रा पर जाए.

समुद्र मार्ग से सऊदी अरब भेजने की प्रक्रिया 1995 में समाप्त कर दी गई थी

एक सूत्र ने कहा, ‘‘यह उच्चतम न्यायालय के आदेश के अनुसार है और जहाजों से हज यात्रियों को सऊदी अरब भेजने का विकल्प सस्ता है.’’ सूत्रों ने बताया कि हज यात्रियों को समुद्र मार्ग से सऊदी अरब भेजने की प्रक्रिया 1995 में समाप्त कर दी गई थी क्योंकि जिस जहाज एमवी अकबरी से उन्हें खाड़ी देश ले जाया जाता था वह पुराना हो गया था.

दोनों शहरों के बीच 2300 समुद्री मील की दूरी दो-तीन दिन में तय कर सकता है

सूत्रों ने बताया कि जहाज एक बार में 4,000 से 5,000 लोगों को ले जा सकता है और दोनों शहरों के बीच 2300 समुद्री मील की दूरी दो-तीन दिन में तय कर सकता है.

सऊदी अरब ने इस वर्ष भारत का हज कोटा 1.36 लाख से बढ़ाकर 1.70 लाख कर दिया. पिछले साल कुल 1.35 लाख भारतीय हज यात्रा पर गए थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button