Uncategorized

इंजीनियरों के मोबाइल का कॉल डिटेल की जांच हो जाए, तो सामने आ जायेगा हर माह 75 लाख रुपया लेने वाले आइएएस का नाम

मामला जमशेदपुर में हर दिन 2.50 करोड़ की बिजली चोरी का
NEWS WING
Ranchi, 14 October :
जमशेदपुर की कई कंपनियों द्वारा हर दिन करीब 2.50 करोड़ रुपये की बिजली चोरी किए जाने के मामले में इंजीनियरों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की गयी है. लेकिन इसमें एक आइएएस अफसर भी शामिल हैं. उनके खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है. न ही अभी तक कोई जांच शुरु की गयी है. हां इंजीनियरों के खिलाफ विभागीय कार्यवाही शुरु कर दी गयी है. इस कारण बिजली विभाग में यह चर्चा हो रही है कि इस मामले में भी जिम्मेदार व हिस्सेदार बड़े अफसर कार्रवाई से बच जायेंगे. इस बीच एक सूत्र ने दावा किया है कि अगर सरकार बिजली चोरी की जांच करा ले और इंजीनियरों के मोबाइल नंबरों का कॉल डिटेल की पड़ताल कर ले, तो आइएएस अफसर का नाम सामने आ जायेगा. यह भी पता चल जायेगा कि आइएएस अफसर को कहां-कहां से वसूली गयी रकम में से हर माह 75 लाख रुपया मिल रहा था. 
चर्चा में है एक उद्योगपति की डायरी 
इस बीच ब्यूरोक्रेसी लॉबी में एक उद्योगपति की डायरी की चर्चा जोर-शोर से चल रही है. कहा जा रहा है कि उस डायरी में कई अफसरों के नाम है, जिन्हें हर माह बिजली चोरी पर चुप रहने के लिए रुपये दिए जाते थे. डायरी में अफसरों को दी जाने वाली राशि का विस्तृत ब्योरा दर्ज है. सत्ता शीर्ष में भी इस बात की चर्चा है कि डायरी एक केंद्रीय एजेंसी के अधिकारियों के हाथ में आ गया है. जल्द ही वह एजेंसी डायरी के तथ्यों की जानकारी राज्य सरकार को भी उपलब्ध करा देगी.
कंपनी मालिकों के यहां हुई थी छापामारी
जिन कंपनियों के मालिकों को द्वारा बिजली चोरी की बात सामने आयी है, उनमें से कुछ कंपनियों के मालिकों के यहां अगस्त माह में आयकर विभाग की छापामारी हुई थी. छापामारी में करोड़ों रुपये की टैक्स चोरी पकड़ी गयी थी. 

Advt

 

Advt

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button