Uncategorized

अब सीतामढ़ी में भड़की सांप्रदायिक हिंसा, इंटरनेट सेवा बंद, पुलिस बल तैनात

Sitamadhi : बिहार में सांप्रदायिक हिंसा रूकने का नाम नहीं ले रहा है. एक के बाद एक जिला में सांप्रदायिकता की आग भड़क रही है. पहले भागलपुर उसके बाद औरंगाबाद, जमुई, मुंगेर, समस्तीपुर, नालंदा और उसके बाद अब सीतामढ़ी में सांप्रदायिक तनाव हो गया है. जानकारी के अनुसार सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर सीतामढ़ी जिले के जानकी स्थान में दो पक्षों में तनाव शुरू हो गया है. आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर एक पक्ष के लोग आरोपी युवक की गिरफ्तारी की मांग को लेकर सड़क पर प्रदर्शन करने लगे और सड़क जाम कर दिया.

हिंसा की आशंका को देखते हुये दुकानदारों ने अपनी-अपनी दुकानें बंद करने में ही भलाई समझी. तनाव बढ़ने की आशंका को देखते हुये प्रशासन ने जिले में इंटरनेट सेवा बाधित कर दी है. डीएम और एसपी मौके पर पहुंच लोगों को समझाने में जुटे हैं. अधिकारी दुकानदारों से दुकानें खोलने की अपील कर रहे हैं.

पूरे इलाके में सांप्रदायिक हिंसा की आशंका को देखते हुये भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है. प्रशासनिक अधिकारी मौके पर कैंप कर रहे हैं. लोगों को भड़काने के आरोप में करनी सेना के जिलाध्यक्ष अंकित कुमार को हिरासत में लिया गया है. 

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ें : बिहार: बीजेपी गठबंधन वाली सरकार में बढ़े सांप्रदायिक हिंसा के मामले

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

आरोपी पर कार्रवाई नहीं होने से भड़का लोगों का गुस्सा

सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी मामले में मंगलवार को लोगों ने नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी. इसमें जानकी स्थान राइन मुहल्ला निवासी मो. लालबाबू के पुत्र मो. आफताब आलम को भी आरोपी बनाया गया था, लेकिन उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई है. लोगों ने आवेदन की प्रतिलिपि डीएम और एसपी को सौंपकर कार्रवाई की मांग की थी, मगर प्रशासन की ओर से कार्रवाई नहीं होने के कारण बुधवार को लोगों का गुस्सा भड़क उठा, जिसके बाद लोगों ने सड़क पर उतरकर प्रदर्शन किया और सड़क को जाम कर दिया. आरोपी युवक पहले भी सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी वायरल कर चुका है.

इस संबंध में डीएम राजीव रौशन ने कहा कि आरोपी की गिरफ्तारी के लिए उसके घर छापेमारी की गई थी, लेकिन वह फरार हो गया है, उसके गिरफ्तारी को लेकर छापामारी की जा रही है. जिले में स्थिति सामान्य है. सभी थानों को अलर्ट कर दिया गया है.   

इसे भी पढ़ें: बिहार : भाजपा नेता अर्जित शाश्वत ने किया आत्मसमर्पण, भागलपुर में दंगा भरकाने का है आरोप

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button