Uncategorized

अप्रैल में रिजर्व बैंक के नीतिगत दरों में 0.25% की कटौती की संभावना

New Delhi: भारतीय रिजर्व बैंक अप्रैल में नीतिगत दरों में 0.25 प्रतिशत की कटौती कर सकता है. इससे कर्ज की दरों को कम करने का संकेत मिलेगा. एक रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया गया है. इसमें कहा गया है कि अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने के लिए कर्ज पर ब्याज दरों में कमी जरूरी है. बैंक आफ अमेरिका मेरिल लिंच (बोफाएमल) की रिपोर्ट में कहा गया है कि मुद्रास्फीति का जोखिम अब अपने चरम को छू चुका है.

इसे भी पढ़ेंः श्रीमान! ना राहत मिली, ना बना कोई काम, आपकी वजह से बस पब्लिक होती रही परेशान

इसे भी पढ़ेंः बोकारो : बैंक खुलते ही रोने लगीं महिलायें, कहा – चली गयी करोड़ों की संपत्ति, अधिकारियों ने कहा चल रही है जांच

उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति रहेगी 5.2 फीसदी

उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति दिसंबर, 2017 में 5.2 प्रतिशत पर रहेगी, लेकिन 2018 की पहली छमाही में यह नरम पड़कर 4.5 प्रतिशत पर आ जाएगी. इसके अलावा आस्ट्रेलिया के मौसम ब्यूरो ने ला नीना की भविष्यवाणी की है, जिससे अगले साल दक्षिण पश्चिम मानसून मजबूत होगा. इससे मुद्रास्फीतिक दबाव पर अंकुश लगेगा.

इसे भी पढ़ें – प्रावधानों को नजरअंदाज कर आईएएस की पत्नी रूचिका मंगला को बनाया गया स्मार्ट सिटी का स्वतंत्र निदेशक !

इसे भी पढ़ें –  विवादों में घिरे रहने वाले कृषि मंत्री रणधीर सिंह ने मुखिया के साथ की गाली-गलौज, धमकाया, जातिसूचक गालियां दी, प्राथमिकी दर्ज 

एमपीसी अप्रैल में नीतिगत दरों में करेगी चौथाई प्रतिशत कटौती

बोफाएमल के शोध नोट में कहा गया है कि रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) अप्रैल में नीतिगत दरों में चौथाई प्रतिशत की कटौती करेगी. रिपोर्ट में इस बात पर हैरानी जताई गई कि एमपीसी ने छह दिसंबर को यथास्थिति कायम रखी. यदि उस समय नीतिगत दरों में कटौती होती तो व्यस्त औद्योगिक सीजन से पहले कर्ज की दरें कम हो सकती थीं. केंद्रीय बैंक ने चालू वित्त वर्ष की पांचवीं द्विमासिक समीक्षा में रेपो दर को छह प्रतिशत तथा रिवर्स रेपो दर को 5.75 प्रतिशत पर कायम रखा था.

इसे भी पढ़ें – नरेंद्र मोदी सरकार ने जिन योजनाओं को बताया था मील का पत्थर, उनमें एक फीसदी राशि भी खर्च नहीं

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

One Comment

  1. 557030 392807Have read a couple of of the articles on your web site now, and I really like your style of blogging. I added it to my favorites weblog internet site list and will probably be checking back soon. 174019

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button