न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

स्‍थानीय निकाय के चुनावी ड्यूटी से मुक्‍त रहेंगे सरकारी स्कूल टीचर

21

Ranchi:  स्‍थानीय नगर निकाय चुनाव कार्य से सरकारी स्‍कूलों के शिक्षकों को मुक्‍त रखा जायेगा. स्‍कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के प्रधान सचिव अमरेंद्र प्रताप सिंह ने झारखंड राज्‍य के सभी जिलों के उपायुक्‍तों को पत्र लिखा है. इस पत्र में प्रधान सचिव ने कहा है कि नि:शुल्‍क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 के लागू होने के बाद केंद्र सरकार और राज्‍य सरकार का संयुक्‍त रूप से यह दायित्‍व है कि सभी बच्‍चों को नि:शुल्‍क और गुणवत्‍तापूर्ण शिक्षा मिले. इस वैधानिक दायित्‍व को पूरा करने के लिए यह जरूरी है कि स्‍कूलों का नियमित रूप में संचालन हो और शिक्षण कार्य के लिए शिक्षक नियमित रूप से उपलब्‍ध रहें. पत्र में कहा गया है कि (NAS) नेशनल एक्‍चीवमेंट सर्वे में झारखंड राज्‍य की स्थिति अच्‍छी नहीं होने के कारण सभी स्‍कूलों में शिक्षा में गुणवत्‍ता के लिए प्रयास किये जा रहे हैं.

इसे भी देखें-  नेतरहाट फील्ड फायरिंग रेंज एवं टाइगर परियोजना के विस्तारीकरण के खिलाफ जुटे हजारों आदिवासी

स्कूलों में अप्रैल  के पहले सप्ताह से सीसीई के तहत शुरू होगी आकलन परीक्षा

पत्र में बताया गया है कि सभी स्‍कूलों में सीसीई (Continuous and Comprehensive Evaluation) के तहत SA-2 से संबंधित आकलन परीक्षा अप्रैल के पहले सप्‍ताह से प्रारंभ होनी है. MIS से संबंधित U-DISE भी सभी स्‍कूलों से छात्रवार सूचना एकत्र कर केंद्र सरकार को भेजनी है. ई-विद्यावाहिनी के अंतर्गत शिक्षकों का प्रशिक्षण भी प्रारंभ है.

इसे भी देखें- व्यापमं घोटाला : सीबीआई ने भोपाल के मेडिकल कॉलेज के अध्यक्ष को किया गिरफ्तार

प्रधान सचिव ने कहा है कि सभी सरकारी स्‍कूलों के शिक्षकों को चुनाव संबधी कार्यों से मुक्‍त रखा जाय. और उनकी जगह दूसरे सरकारी और अर्द्धसरकारी कर्मियों को चुनाव के कार्यो में लगाने को सुनिश्चत करें. उन्‍होंने यह भी कहा है कि अगर बहुत ही जरूरी हुआतभी कम से कम संख्‍या में शिक्षकों को चुनावी कार्य में लगाएं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: