न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सेतु समुद्रम प्रोजेक्ट फिर चर्चा में, सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा, पौराणिक रामसेतु को नुकसान नहीं पहुंचायेंगे

48

New Delhi : सेतु समुद्रम प्रोजेक्ट फिर चर्चा में है. रामसेतु पर बननेवाले इस प्रोजेक्ट के संबंध में केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को साफ किया कि सेतु समुद्रम शिप चैनल प्रोजेक्ट के लिए पौराणिक रामसेतु को नुकसान नहीं पहुंचाया जायेगा. सरकार ऐतिहासिक और पौराणिक महत्व के रामसेतु का ढांचा खत्म नहीं करेगी, बल्कि इसके संरक्षण का प्रयास करेगी. सरकार का कहना है कि वह देशहित में रामसेतु को ढहाये बगैर वैकल्पिक मार्ग तलाशेगी. केंद्र सरकार की ओर से हलफनामा दायर करने की जानकारी अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल पिंकी आनंद ने उस समय अदालत को दी, जब मामले के एक याचिकाकर्ता भाजपा नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने मामले की त्वरित सुनवाई के लिए विशेष उल्लेख किया. यूनियन मिनिस्ट्री ऑफ शिपिंग ने जस्टिस दीपक मिश्रा की बेंच के समक्ष हलफनामा दायर किया है.

mi banner add

एडम्स ब्रिज के नाम से भी मशहूर रामसेतु दक्षिण भारत में रामेश्वरम के निकट है

 नब्बे के दशक में सेतु समुद्रम शिपिंग केनाल नामक परियोजना की संभावना तलाशने के लिए अध्ययन को मंजूरी दी गयी थी. वर्ष 1997 में तत्कालीन सरकार ने इस परियोजना को आगे बढ़ाने का फैसला किया था, लेकिन इसे अंतिम मंजूरी 2005 में मिली थी, एडम्स ब्रिज के नाम से भी मशहूर रामसेतु दक्षिण भारत में रामेश्वरम के निकट पामबन द्वीप से श्रीलंका के उत्तरी तट स्थित मन्नार द्वीप तक स्थित है. 

इसे भी पढ़ें: सरफराज की जीत पर गिरिराज सिंह के बिगड़े बोल , कहा – अररिया बनेगा आतंकवादियों का अड्डा

सुब्रमण्यम स्वामी ने राम सेतु को राष्ट्रीय धरोहर घोषित करने की मांग की है

सुब्रमण्यम स्वामी ने दायर याचिका में सुप्रीम कोर्ट से आग्रह करते हुए केंद्र को निर्देश देने को कहा था कि कोर्ट केंद्र से कहे कि इस प्रोजेक्ट को लेकर किसी भी हालत में पौराणिक राम सेतु को नहीं छुआ जाना चाहिए. इस संबंध में सुब्रमण्यम स्वामी ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि अब वे सुप्रीम कोर्ट जायेंगे और अपील करेंगे कि राम सेतु को राष्ट्रीय धरोहर घोषित किया जाये.

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

इसे भी पढ़ें: आरजेडी विधायक शक्ति यादव का दावा – इसी महीने उपेंद्र कुशवाहा थामेंगे महागठबंधन का दामन  

प्रोजेक्ट की लागत ढाई हजार करोड़ से चार हजार करोड़ हो गयी है 

 शुरुआत में इस प्रोजेक्ट की लागत ढाई हजार करोड़ थी, जो अब चार हजार करोड़ हो गयी है.  इस क्रम में बड़े जहाजों के आने-जाने के लिए करीब 83 किलोमीटर लंबे दो चैनल बनाये जाने थे,  प्रोजेक्ट बनने से जहाजों के आने-जाने में लगने वाला समय 30 घंटे तक कम हो जायेगा. इन चैनल्स में से एक राम सेतु जिसे एडम्स ब्रिज भी कहा जाता है, से गुजरना था. अभी श्रीलंका और भारत के बीच इस रास्ते पर समुद्र की गहराई कम होने की वजह से जहाजों को लंबे रास्ते से जाना पड़ता है.

  न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: