न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सीएम रघुवर दास  को सोशल साइट पर मिल रहे ऐसे कॉमेंट,  “बेरोजगार हूं साहब, मुझे नौकरी से फर्क पड़ता है, कांग्रेस या बीजेपी से नहीं”

23

Subhash Shekhar

Ranchi: झारखंड में नगर निकाय चुनाव को लेकर प्रचार प्रसार अभियान तेज हो गया है. वहीं मुख्‍यमंत्री रघुवर दास ने भी अपने फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर भाजपा प्रत्‍याशियों के समर्थन में पोस्‍ट करना शुरू कर दिया है. इस दौरान सीएम को सोशल साइट पर लोगों के तीखे कमेंट से ट्रोल होना पड़ रहा है.

“कुछ भी कर लीजिएअबकी बार मुश्किल है भाजपा सरकार

4 मार्च को मुख्‍यमंत्री रघुवर दास ने सोशल साइट्स पर कई पोस्‍ट किये. उसमें से एक 2 मार्च के भारत बंद को लेकर डैमेज कंट्रोल करने के लिए पहला पोस्‍ट डाला गया. इसमें दलित सशक्तीकरण के बारे में सरकार की उपलब्धि की जानकारी दी गई. फेसबुक और ट्विटर पर पोस्‍ट के बाद आईना दिखाते हुए कई कमेंट हुए और लोगों ने अपने क्षेत्र की मूलभूत समस्‍याएं बतायी. इस पोस्‍ट पर ट्रोल कुमार का कमेंट है इसमें से कितना ऑरिजनल बीजेपी का है… सब तो सिर्फ कॉपी किया हुआ है. उसमें से भी सब फेल हुआ है. ना कोई उम्‍मीद दिखती है न भरोसा.‘ तरूण जोशी ने कमेंट किया है कुछ भी कर लीजिएअब की बार मुश्किल है भाजपा सरकार‘.

सीएम 1

“रघुवर दास के कारण मोदी जी को नेक्‍स्‍ट इलेक्शन में झारखंड से कोई सीट नहीं मिलेगी”

अपने दूसरे पोस्‍ट में रघुवर दास ने पोस्‍ट किया है जिस प्रकार पलामू की जनता नेआप सभी कार्यकर्ताओं ने कठिन परिश्रम कर यहां से बीजेपी सांसद और विधायक चुनाउसी तरह से आप अपने शहर की सरकार चुनें तो बीजेपी को ही चुने. मुख्‍यमंत्री के इस पोस्‍ट पर कमेंट करते हुए राजवीर सिंह कहते हैं बेवकूफ बन गये. मुझे दुख है रघुवर दास की वजह से मोदी जी को नेक्‍स्‍ट इलेक्‍शन में झारखंड से कोई सीट नहीं मिलेगी.

इसे भी देखें- विकास का नारा बेअसर होने पर अब क्या आक्रामक हिंदुत्व की ओर लौट रही बीजेपी ?

अलग राज्‍य कहां रहा ?

सीएम रघुवर दास ने एक पोस्‍ट में झारखंड के विकास की बात करते हुए कहा है ‘अलग राज्‍य गठन के बाद लोगों की आकांक्षाएं थींअपेक्षाएं थीं कि इस राज्‍य का सर्वांगीण विकास होगा. राजनीतिक अस्थिरता के कारण लोगों की आशाएं पूरी नहीं हुईं. 14 साल बाद राज्‍य की जनता ने एक स्थिर सरकार देने का काम कियाअब झारखंड विकास के पथ पर चल पड़ा है. इस पोस्‍ट पर राजवीर सिंह ने कमेंट किया है कि अलग राज्‍य कहां रहाअब तो आपने भोजपुरीमगहीमैथिली को भी शामिल कर दिया. इस पोस्‍ट में बब्‍बन सिंहअभय सिंह समेत कई लोगों ने कमेंट के जरिये अपने क्षेत्र की समस्‍याओं को लिखा है.

सीएम 2

“सर क्‍या ऐसे ट्विटर पर ही विकास दिखेगासर जमीन पे आओ

अपने एक पोस्‍ट में रघुवर दास ने सरकार की तारीफ में कहा है कि जनता ने आशा और आकांक्षाओं के साथ बीजेपी को सेवा करने का मौका दियाहम भी पूरी ईमानदारी से राज्‍य की जनता को बुनियादी सुविधाएं पहुंचाने का काम कर रहे हैं. ये कोई राज्‍य पर हम कृपा नहीं कर रहे हैं. ये हमारी जिम्‍मेदारी हैये हमारा धर्म हैये हमारा फर्ज है. सीएम के इस पोस्‍ट पर कमेंट के जरिये सिस्‍टम की विफलताओं की कतार लगा दी है. अनिल कुमार साह ने लिखा है पिछले एक साल से देवघर जिला का झारभूमि पोर्टल बंद पड़ा है. जनसंवाद में शिकायत करने पर भी सुनवाई नहीं हो रहीजमीन संबंधी सारे काम ठप पड़े हैं. राजेश गिरी ने लिखा है लपंगा पंचायत पर कुछ तो ध्‍यान दिया जायशिकायत बताने पर भी कोई एक्‍शन नहीं हो रहाकारण समझ नहीं आ रहा है.‘  पल्‍लवी ने लिखा है सर प्‍लीज,जेएसएससीसीजीएससी 2015 मेन्‍स एग्‍जाम कंडक्‍ट करवाइए. कृपा करिये… झारखंड में बहुत अनइम्‍प्‍लायमेंट है.‘ विप्‍लव रंजन ने लिखा है धर्म है पैसाकर्म है पैसा… जनता को सिर्फ धोखा मिला… अगर गिनाने लगूं तो आप गिन नहीं पाओगे.‘ उन्‍होने आगे लिखा है सर क्‍या ऐसे ट्विटर पर ही विकास दिखेगासर जमीन पे आओआप अभी आसमान में हो… बस अपनी माला खुद ही जप रहे हो आप.‘ संत श्री जंगली बाबा ने कमेंट किया है हम सब लोग भी अगले चुनाव में आपको वोट न देकर कोई कृपा नहीं, बल्कि सेवा करेंगे. ऐसा कोई युवा सगा नहीं जिसको आपकी सरकार ने ठगा नही. Wait 4 2019

इसे भी देखें- काला हिरण शिकार केस में सलमान खान को 5 साल की सजा, 10 हजार का जुर्माना, बाकी सभी आरोपी बरी

सीएम 3

मुझे तो लग रहा हैअगली बार आपकी सरकार गई

सीएम रघुवर दास ने अगली ट्वीट पीएम नरेंद्र मोदी को करते हुए कहा है कि पीएम मोदी जी को 4 साल हो गएहमारी सरकार को साढ़े तीन साल हुए. आप ये जितनी समस्‍याएं देख रहे हैंक्‍या ये सारी समस्‍यायें मादी जी की देन है. ये सारी समस्‍या कांग्रेस पार्टी और झारखंड नामधारी पार्टी की देन हैजिन्‍होंने इस देश को लूटाइस राज्‍य को लूटा. सीएम के इस पोस्‍ट पर कमेंट करते हुए चंदन सिंह मुंडा ने लिखा है मुझे तो लग रहा हैअगली बार आपकी सरकार गई.‘ रोहित गुप्‍ता ने कमेंट किया है कि माना कि कांग्रेस की देन हैपर आपको इसलिए चुना गया कि आप करप्‍शन पर लगाम लगा सकोलेकिन ऐसा नहीं हुआ नौकरशाह और भी ज्‍यादा भ्रष्‍ट हो गये.

इसे भी देखें- पलामू : फर्जी कागजात बनाकर लिया सरकारी लाभ, प्राथमिकी दर्ज होने के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई

“बेरोजगार हूं साहबमुझे नौकरी से फर्क पड़ता हैकांग्रेस या बीजेपी से नहीं

सीएम ने अगले पोस्‍ट में लिखा है इन 14 सालों में झारखंड में जो सरकारें थीउनको भी आपने देखा. इस राज्‍य में कितने घोटाले हुएइन घोटालों में कौन-कौन से दल शामिल थेवो है झारखंड मुक्ति मोर्चाकांग्रेसराजद. ये घोटालेबाज फिर एक हो रहे हैंक्‍योंकि ये राज्‍य को फिर लूटना चाहते हैं. सीएम के इस पोस्‍ट पर 15 कमेंट हुए हैं. दिलीप कुमार बेहरा ने लिखा है होमगार्ड कर्मी को ड्यूटी बहाल कर ड्यूटी से वंचित किया जा रहा है. और वह भी मुखियाजी (रघुवर दास) गृहक्षेत्र जमशेदपुर में हजारों गृहरक्षकों का परिवार कैसे चल रहा हैकोई सुनने वाला नहीं.‘ रोहित कुमार यादव ने लिखा है सरजी जिला पुलिस 2015 का कितने सीट खाली पड़े हैंफिर भी 3900 फिट अभ्‍यर्थियों को छांट दिया गया हैजिसमें से मैं भी एक हूं.’ अंकित आयुष लिखते हैं आपके सरकार की भी सेवा के तीन साल होग ये है. जेपीएससी और जेएसएससी के द्वारा कितने लोगों को जॉब मिला. एक ही वेकेंसी के लिए असिस्‍टेंट इंजीनियर का फॉर्म जेपीएससी ने 3 साल में तीन बार भरवाया हैबेरोजगार हूं साहबमुझे नौकरी से फर्क पड़ता हैकांग्रेस या बीजेपी से नहीं.

सिर्फ फीता काट रहे हैं और ट्विटर-फेसबुक पर अनाउंस कर देते हैं

एक और पोस्‍ट में सीएम ने लिखा है कि आज तक कांग्रेस और झारखंड नामधारी पार्टियों ने गरीब आदिवासी शोषितों के नाम पर सिर्फ और सिर्फ अपनी मतपेटी भरने का काम किया और गरीब को मौत की पेटी में सुलाने का काम किया. ऐसे दलों के बारे में आपका लोगों को आगाह करने की जरूरत है. सीएम के इस पोस्‍ट पर गौतम ने कमेंट किया है कि काम तो आपने भी कुछ नहीं किया. युवा और बेरोजगार हो गये. करप्‍शन ऑल टाइम हाई है. रोड पर स्‍टेट ट्रांसपोर्ट की कोई बस नहीं दे पाए. सिर्फ फीता काट रहे हैं और ट्विटर-फेसबुक पर अनाउंस कर देते हैं. 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: