न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सीएम को शिकायत सहित भेजा 10 लाख का चेक : शिकायतकर्ता की चुनौती-बात झूठ निकले तो रख लें पूरी राशि

22

NEWS WING DESK : मुख्यमंत्री से अपनी समस्याओं को लेकर शिकायत करते या शियायतों से संबंधित पत्र भेजते आपने देखा-सुना होगा, मगर ये जानकर आपको हैरानी होगी कि एक शख्स ने सीएम को शिकायत के साथ 10 लाख का चेक भी भेजा. इतना ही नहीं सीएम को चैलेंज भी किया है कि शिकायत की बात अगर झूठ निकले तो 10 लाख आप रख लें. गुड़गांव के रहनेवाले शिकायतकर्ता ने लिखा है कि यदि उसकी शिकायत गलत पायी जाए तो चेक की राशि  मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा कर ली जाए और उसके (शिकायतकर्ता) खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज करायी जाए. सीएम विंडो के इतिहास में अपनी तरह का यह पहला और अनोखा मामला है. शिकायतकर्ता का नाम कृष्णा लांबा है, जो गुड़गांव के सेक्टर-5 निवासी हैं और उन्होंने भूमाफियाओं के खिलाफ सीएम विंडो पर लिखित शिकायत दी है.

इसे भी देखें- रांची : पार्ट वन की परीक्षा में आया सिलेबस से बाहर का प्रश्न , विरोध में 20 हजार परीक्षार्थियों ने जमा कर दी खाली आंसर शीट

मामले की तह में क्या है ?

गौरतलब है कि कृष्णा लांबा ने इससे पहले 21 अक्टूबर, 2016 को भी सीएम विंडो पर पालम विहार स्थित नगर निगम नंदीग्राम गोशाला के साथ लगती जमीन कॉलोनाइजर्स द्वारा कब्जाने की शिकायत की थी. लांबा की शिकायत पर डेढ़ साल बाद 18 फरवरी, 2018 को गुड़गांव के अधिकारियों ने बताया कि इस मामले में दूसरा पक्ष कोर्ट जा चुका है और अब न्यायालय जो भी निर्णय देगा, उसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी. वहीं, लांबा का आरोप है कि इस मामले में अधिकारियों ने दूसरी जगह की जमीन के फर्जी दस्तावेज लगाकर गलत रिपोर्ट तैयार की है. लिहाजा एक बार फिर से लांबा ने अपनी शिकायत सीएम विंडो पर की है. लेकिन इस बार लांबा ने अपनी शिकायत के साथ 10 लाख का चेक भी लगाकर सरकार को एक तरह से चुनौती दी है. कृष्णा लांबा का दावा है कि अगर वो गलत हुए तो उनके खिलाफ कार्रवाई हो अन्यथा भूमाफियाओं और जिन अधिकारियों ने गलत रिपोर्ट तैयार की है, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए.

इसे भी देखें – 153 ट्रक कोयला चोरी करने वाले का नाम, पता, ट्रक नंबर सब पता है, फिर भी नहीं पकड़ रही टंडवा पुलिस

करप्शन रोकने के लिए बना है सीएम विंडो 

हरियाणा को भ्रष्टाचार पर लगाम कसने और सरकारी सिस्टम को पारदर्शी बनाने के लिए राज्य सरकार ने सीएम विंडो यानि मुख्यमंत्री समस्या निवारण पटल’ की शुरुआत की थी. सीएम विंडो पर लोग जाकर अपनी शिकायत ऑनलाइन दर्ज करा सकते हैं और साथ ही घर बैठे ही ऑनलाइन उसकी स्थिति भी जान सकते हैं. सीएम विंडो पर शिकायत भेजने के घंटे बाद ही संबंधित अधिकारी को भेज दी जाती है, जिसका निवारण अधिकारी को करना होता है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: