Uncategorized

सिल्‍ली विधानसभा उपचुनाव के लिए 11 प्रत्‍याशियों ने किया था नामांकन, स्क्रूटनी के बाद 10 उम्‍मीदवारों के नाम स्‍वीकृत

Ranchi: सिल्ली विधानसभा उप चुनाव के लिए कुल 11 उम्मीदवारों के द्वारा 26 सेट में नामांकन पत्र दाखिल किया गया था. नामांकन पत्रों की जांच के बाद एक उम्‍मीदवार का नामांकन रद्द कर दिया गया. यह उम्मीदवार निरंजन कुमार महतो हैं जिन्‍होंने निर्दलीय नामांकन किया था. एक उम्‍मीदवार का नामांकन रद्द होने के बाद सिल्‍ली उपचुनाव में कुल 10 उम्मीदवार चुनाव लड़ सकते हैं. इनमें आजसू के सुदेश महतोझामुमो की सीमा महतोनिखिल कुमार सोरेन (निर्दलीय) सीमा देवी (निर्दलीय)ज्योति प्रसाद (राष्ट्रीय लोक समता पार्टी)दीपक कुमार मांझी (निर्दलीय)लालचंद महतो (निर्दलीय)संजय प्रसाद यादव उर्फ संजय अहीर (जन अधिकार पार्टीलोकतांत्रिक) और सीताराम मुण्डा (झारखण्ड दिशोम पार्टी) शामिल हैंये उम्‍मीदवार चाहें तो 14 मई तक नाम वापस ले सकते हैं. अगर किसी ने अपना नाम वापस नहीं लिया तो सिल्‍ली उपचुनाव के मैदान में 10 उम्‍मीदवार जीत के लिए चुनाव लड़ेंगे.

इसे भी पढ़ें-  गोमिया उपचुनाव : वोटरों का गणित जेएमएम के पक्ष में, पर उम्मीदवार बदलने से बदल सकते हैं परिणाम

उम्मीदवारों ने कितने सेट में जमा किया था नामांकन पत्र ?

Catalyst IAS
SIP abacus

1. सुदेश कुमार महतो द्वारा 4 सेट में नामांकन पत्र जमा किया गया.  

MDLM
Sanjeevani

2. सीमा देवी  के द्वारा 4 सेट में नामांकन पत्र जमा किया गया.

3. अमित सिंह मुण्डा के द्वारा 2 सेट में नामांकन पत्र जमा किया गया.

4. धनपति महतो के द्वारा 2 सेट में नामांकन पत्र जमा किया गया.

5. ज्योति प्रसाद के द्वारा 4 सेट में नामांकन पत्र जमा किया गया.

6. संजय प्रसाद यादव के द्वारा 2 सेट में नामांकन पत्र जमा किया गया.

7. दीपक कुमार मांझी के द्वारा 2 सेट में नामांकन पत्र जमा किया गया.

8.  सीमा देवी के द्वारा 2 सेट में नामांकन पत्र जमा किया गया.

9.  लालचंद महतो के द्वारा 1 सेट में नामांकन पत्र जमा किया गया.

10. सीता राम मुण्डा के द्वारा सेट में नामांकन पत्र जमा किया गया.

इसे भी पढ़ें-  गोमिया उपचुनाव में बीजेपी ने झोंकी ताकत, विपक्ष के गठबंधन को बताया अवसरवादी

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button