Uncategorized

सात फिल्मों को अनुदान देने की अनुशंसा

– 4 अक्टूबर को फिर होगी बैठक –

Sanjeevani

रांची: झारखण्ड फिल्म नीति 2015 के अनुरूप झारखण्ड में बन रही फिल्मों को आर्थिक अनुदान देने की प्रक्रिया तेज हो गयी है। गुरुवार को रांची के सूचना भवन में झारखण्ड फिल्म तकनीकी सलाहकार समिति से सम्बद्ध स्क्रिप्ट सब कमिटी, प्रस्ताव समीक्षा उप समिति एवं वित्तीय उप समिति की बैठक में कुल सात फिल्मों को आर्थिक अनुदान देने की अनुशंसा की। आज जिन फिल्मों को आर्थिक अनुदान देने का निर्णय लिया गया उनमे हिन्दी, संथाली, खोरठा व भोजपुरी भाषा की फ़िल्में शामिल हैं। इसके अतिरिक्त पंद्रह से ज्यादा अन्य प्रस्तावों की समीक्षा भी हुई और इनमे से अधिकांश को अनुदान देने पर सैद्धांतिक सहमति बनी है। बैठक में लिए गए निर्णय के मुताबिक़ झारखण्ड फिल्म तकनीकी सलाहकार समिति से सम्बद्ध विभिन्न उप समितियों की बैठक 4 अक्टूबर को भी होगी। इसी बैठक में फिल्म निर्माण से सम्बंधित शेष प्रस्तावों की समीक्षा की जायेगी। जिन फिल्मों को अनुदान देने की अनुशंसा की गयी है उन्हें तैयार फिल्मों की स्क्रीनिंग व निर्माणाधीन फिल्मों के छायांकित दृश्यों (रशेज) के प्रदर्शन का निर्देश दिया गया है।
गौरतलब है कि झारखण्ड फिल्म नीति 2015 के अस्तित्व में आने के बाद से लगातार मुम्बई फिल्म नगरी से जुड़े ख्याति प्राप्त फिल्मकारों व स्थानीय फिल्म निर्माताओं ने झारखण्ड में फिल्मों की शूटिंग में रूचि दिखाई है। पद्मभूषण अनुपम खेर के अलावा विद्या बालन, नसीरुद्दीन शाह, मुकेश भट्ट, सुशांत राजपूत आदि फिल्मकारों व कलाकारों ने झारखण्ड के विभिन्न स्थानों पर अपनी फिल्मों की शूटिंग की है। अभी भी नियमित तौर पर फिल्म निर्माण से सम्बंधित प्रस्ताव प्राप्त हो रहे हैं। माननीय मुख्यमंत्री रघुवर दास के नेतृत्व में मुम्बई में आयोजित निवेशक रोड शो के दौरान भी मुंबई फिल्म नगरी से जुड़े कई फिल्म निर्माताओं ने झारखण्ड में फिल्म निर्माण की इच्छा प्रकट की है।

MDLM

(आईपीआरडी)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button