न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सलमान… तेरे ‘नाम’…

113

अक्षय कुमार झा

Ranchi : कभी ना दूल्हा बनने वाले सलमान ने अपने करियर की शुरुआत ही बीवी हो तो ऐसी‘…फिल्म से की…जिसमें उन्होंने सिर्फ़ अभिनय ही किया…आवाज़ नहीं दे पाए…लिहाज़ा, आज भी कोई बीवी उनके पास नहीं है जो उनकी सुने…सलमान की ज़िंदगी में पहले बीवी हो तो ऐसीआई…बाद में उन्हें प्यार हुआ…फिल्म आई मैंने प्यार किया‘…बाप की दौलत को ठोकर मार कर प्यार के लिए घर छोड़ने वाला प्रेम…फिल्म में उन्हें अपना प्यार तो मिला…लेकिन, आदतन वो बाग़ीहो गए…सनम बेवफ़ाकी कहानी में उन्हें महबूब से बेवफ़ाई मिली…इसलिए वो अब साजनबनने को बेक़रार थे…साजनकी क़ामयाबी के बाद सलमान भला पीछे मुड़ कर देखते भी तो क्यों ??? वो अब अपने आप को दुनिया से अलग समझने लगे थे…किसी की क़ीमत उनके सामने रत्ती भर भी नहीं थी…ज़बान पर बस ये था कि भला मैं आपकी सुनु तो क्यों हम आपके हैं कौन‘??? अब उनके पास सब कुछ था…रुतबा, शोहरत और पैसा…सब कुछ…सात साल तक इस फिल्म की कमाई का रिकॉर्ड नहीं टूटा…पूरी तरह से फैंस के दिलों में सलमान क़ायम हो चुके थे…सलमान अब एक मुकम्मल हीरो थे…एक और शख्स था जो कभी हीरो तो कभी विलेन बन कर धीरे-धीरे सभी की दिलों पर छा जाने की पूरी तैयारी में था…कभी दिवानाबना फिरता तो कभी डरसे अपनी मोहब्बत हासिल करना चाहता…आज वो रोमांस किंग के नाम से जाना जाता है…फिल्म हिट कराने के लिए सिर्फ़ बाहें भर फैलाना होता था…सलमान और शाहरुख़ क़ामयाबी की घोड़ी पर सवार बेरोक-टोक भागे चले जा रहे थे…दोनों ने हाथ मिलाया…भाई बन गए…जैसे करण अर्जुन‘…

इसे भी पढ़ें –जेल में ही गुजरेगी ‘टाइगर’ की एक और रात, सलमान की जमानत पर शनिवार को आयेगा फैसला 

xrfyjytj

इसे भी पढ़ें – काला हिरण शिकार केस में सलमान खान को 5 साल की सजा, 10 हजार का जुर्माना, बाकी सभी आरोपी बरी

लेकिन सलमान ने तो ठान ली थी कि वो सबसे हम आपके हैं कौनना कह पाए तो ख़ामोश हो जाएंगे…पर, सलमान की ख़ामोशीभला रहती तो भी कितनी देर…अब उनमें एक साथ अकेले दो सलमान बनने का माद्दा जो था…जैसे कि वो जुड़वाहों…एक ही समय में वो ख़ूबसूरत हसीनाओं के दिल में रहते थे और शर्टलेस हो चुके युवा फैंस के दिलों-दिमाग में भी…अब तो वो जिससे मर्ज़ी दिल लगा बैठते थे…उन्हें किसी का डर नहीं था…कहते फिरते भला प्यार किया तो डरना क्या‘…सलमान पर लट्टु होने वाली अपसराओं की लंबी फेहरिस्त थी…किसी एक के हीरो नहीं थे सलमान…अब ये सुपर स्टार सलमान थे… इतने बड़े हो चुके थे सलमान कि बैड लक का दिल भी इनपर आ गया…अब बैडलक तो बैडलक है…इन्होंने लाख सभी के साथ रहने की कोशिश की…पर बैडलक …साथ रह नहीं पाए…सलमान की हम साथ साथ हैंयोजना मुंह के बल गिरी…कोर्ट-कचहरी, नोटिस और बैडलक अब साथ-साथ रहने लगे…हमेशा खिलखिलाने वाले सलमान का जैसे दिल बैठ गया हो…कम ही समय में इतना कुछ पा लेने के बाद भी एक खालीपन उन्हें सताने लगा…कमी किसी चीज़ की नहीं थी…पर दिल किसी एक पर ठहरता ही नहीं था…इसी बीच कुछ ऐसा हुआ कि इनके दिल ने भी इनसे बग़ावत कर दी…आख़िर करते भी क्यों ना…दुनिया की सबसे ख़ूबसूरत लड़की जो सामने थी…इन्होंने कहा भी नहीं और सभी समझ गए कि सलमान का दिल अब किसी सनम के पास है…बाद में इन्होंने मान ही लिया कि हम दिल दे चुके सनम‘…थोड़ी ख़ुशी ज़िंदगी में आई…पर बैडलक…दिल तो टूटा ही…कुछ ऐसा भी हुआ जिससे उनका हर दिन उन्हें जैसे 17 साल जितना लंबा लगने लगा…चोरी चोरी चुपके चुपकेअब सलमान समय बिताने लगे…कुछ दिनों के लिए गुडलक ने भी करियर को अलविदा कह दिया…हर दिल जो प्यार करेगाउसके साथ ऐसा होगा किसी ने सोचा नहीं था…लेकिन वांटेडसलमान का दिन वापस लौट कर आना ही था…रूठी गुड लक ने फिर से सलमान का हाथ थाम लिया…जैसे फिर से वो बिग बॉसहो गए हों…मिट्टी को भी छूते तो वो सोना…एक बार सलमान फिर से रेडीहो चुके थे…सलमान कइयों के लिए मौक़ा बने तो उन्होंने कइयों को मौक़ा भी दिया…जिस पर दिल आया उसके लिए मानो वो एक बॉडीगार्डथे…बॉलीवुड में यूं तो कई थे लेकिन उन सा टाइगरअब कोई नहीं था…चुलबुल से दिखने वाले सलमान की दबंगई ऐसी थी कि बड़े-बड़े दबंगउनके सामने पानी भरने लगे…जिसे चाहा उसे सलमान ने किकमारी…

इसे भी पढ़ें – फैमिली कोर्ट का बड़ा फैसला: गर्भवती पत्नी को घर से निकालने पर सुनाई 22 साल की सजा

hjkhjkl

क़रीब 50 साल के सलमान ने अपनी आधी से ज़्यादा जिंदगी बॉलीवुड में स्टार बन कर गुजारी…लेकिन फिर भी कॉमन मैन वाली छवि अब भी उनकी बरक़रार थी…उन्हें देख कर लगता जैसे ‘Being human’…किसी के लिए वो भाई थे…तो कोई मज़ाक में बजरंगीभी बोला जाता…कई बार प्रेम बन चुके सलमान को यूं तो परिवार और फैंस की तरफ बेशुमार प्यार मिला…लेकिन प्रेम रत्न जैसा धनउन्हें अब शायद ही मिल पाए…उन्होंने इतनी मेहनत की थी कि वो बिना बनाए बॉलीवुड के सुल्तानबन गए थे. सुल्तान ने ऐसी चढ़ाई की बाकी सभी हीरो उनके सामने ट्यूबलाइटहो गए थे. लेकिन समय करवट लेता है. 20 साल के बाद उन्हें काला हिरण मारने में पांच साल की सजा सुनाई जाती है. चाहते तो वो भी कइयों की तरह भारत से बाहर किसी देश में पनाह ले लेते लेकिन वो दुनिया को बताना चाहते थे कि उनके अंदर का टाइगर अभी जिंदा है’.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: