न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सरकार की अनदेखी से नक्सली बनने की ओर झारखंड के गृह रक्षक : एसोसिएशन

10

NEWSWING

Jamtara, 06 December : झारखंड वेलफेयर एसोसिएशन की बैठक स्थानीय गांधी मैदान में आयोजित की गई. बैठक की अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष रवि मुखर्जी ने की. इस दौरान एसोसिएशन ने दुख प्रकट करते हुए कहा कि 71 वर्षों के बाद भी देश एवं झारखंड राज्य के गृह रक्षकों को कोई लाभ नहीं मिला है.  वर्षों के बाद बिहार से अलग राज्य झारखंड का निर्माण होने से गृह रक्षकों की उम्मीद जगी थी कि अब हमलोगों को लाभ मिलेगा. लेकिन झारखंड राज्य अलग होने का कोई फायदा गृह रक्षकों को नहीं हुआ.

झारखंड में भाजपा सरकार आने से हम लोगों की उम्मीद काफी ज्यादा बढ़ी थी.  लेकिन गृह रक्षकों के स्थापना दिवस में गृह रक्षकों को 100 का लॉलीपॉप की घोषणा कर दी गई. जबकि राज्य में 19,750 के करीब गृह रक्षक वर्तमान में हैं और ड्यूटी मात्र 10,000 के करीब गृह रक्षकों को मिल पाती है. इन 10000 में भी 4000 से 5000 तक गृह रक्षक वर्तमान में सरकारी कार्यालयों या अधिकारियों के आवास पर बने रहते हैं. मात्र 10000 गृह रक्षकों प्रतिनियुक्त में से 5000 हजार गृह रक्षकों का कमान प्रतिनियुक्त किया जाता है. बाकी गृह रक्षक ड्यूटी से पूरी तरह से वंचित रहते हैं. ऐसी स्थिति में सरकार द्वारा 100 की घोषणा करना राज्य के गृह रक्षकों को नियमित ड्यूटी पर नहीं लगाना एसोसिएशन एवं राज्य के गृह रक्षक कड़ी निंदा करती है.

यह भी पढ़ें : देश में सबसे ज्यादा प्रदूषण फैलाने वाले पावर प्लांट में से एक है टीटीपीएस, केंद्रीय प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने उत्पादन बंद करने का दिया निर्देश

पलायन को मजबूर हो रहे राज्य के गृह रक्षक

एसोसिएशन ने कहा कि सर्वप्रथम सरकार को राज्य के गृह रक्षकों की ड्यूटी स्थाई करनी चाहिए थी, पर ऐसा नहीं हुआ. राज्य के गृह रक्षक पलायन होने पर मजबूर हो रहे हैं. गलत रास्ते पर जा रहे हैं. जिसका एक उदाहरण 2009 में गुमला के गृह रक्षक द्वारा बेरोजगारी के कारण नक्सली संगठन में शामिल होना है. एक ओर सरकार करोड़ों-अरबों रुपए विकास योजना में खर्च कर रही है वहीं राज्य के गृह रक्षकों के प्रति सरकार का रवैया काफी उदासीन है.

यह भी पढ़ें : गढ़वा में सीएम के कार्यक्रम में भाजपा कार्यकर्ताओं का हंगामा, प्रशासन विरोधी नारे लगाये

ये थे शामिल

बैठक में मुख्य रूप से प्रदेश अध्यक्ष रवि मुखर्जी, प्रदेश संगठन सचिव तपन सिंह, डोमन दत्ता ने 10 दिसंबर को दुमका में होने वाले प्रमंडलीय सम्मेलन में भारी से भारी संख्या में भाग लेने के का आह्वाहन किया तथा सम्मेलन को ऐतिहासिक बनाने को लेकर विचार विमर्श किया गया. मौके पर पोकी मंडल, राजेश कुमार,  दीपक कुमार चौधरी, शेख रिंकू, तपन कुमार सिंह, तकिब खान, मिथिलेश कुमार महतो, मनोज कुमार, रोहित सिंह, जय किशोर, हिमांशु सिंह, विनोद सिंह सहित काफी संख्या में होमगार्ड मौजूद थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: