न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सभी मामलों से बरी हो गया 25 लाख का इनामी नक्सली छोटा विकास उर्फ चश्मा, रिहाई के बाद डीसी ने किया स्वागत

93

Latehar: 23नक्सली घटनाओं में शामिल होने का आरोपी और 25 लाख का इनामी नक्सली छोटा विकास उर्फ चश्मा विकास उर्फ  दिनेश यादव उर्फ सत्येंद्र यादव उर्फ उर्फ उमेश सभी मामलों में बरी हो गया. पिछले माह वह जेल से बाहर निकल आया. 12 अप्रैल 2016 को चश्मा विकास ने सरेंडर किया था. सरेंडर के वक्त वह भाकपा माओवादी संगठन में बिहार-झारखंड-उत्तरी छत्तीसगढ़ स्पेशल एरिया कमेटी का सदस्य था. सेंट्रल कमेटी के शीर्ष नक्सली अरविंद और सुधाकरण के बाद वह झारखंड में शीर्ष नक्सली था. सरकार ने उस पर 25 लाख रुपये का इनाम रखा था. इतने बड़े और खूंखार नक्सली का सजा भुगते बिना बरी हो जाना सरकार की क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम पर सवाल खड़ा करता है.

इसे भी पढ़ें:साहब आप तो कागजों पर वो हादसा देख रहे हैं, मैंने अपनी नंगी आंखों से नक्सलियों का वो तांडव देखा हैः पीसी देवगम

पुलिस ने दर्ज केस के वापसी की अनुशंसा की थी

naxali

उल्लेखनीय है कि सरेंडर के बाद पुलिस मुख्यालय ने छोटा विकास के खिलाफ दर्ज मामलों को वापस लेने की अनुशंसा सरकार से की थी. जिसके बाद गृह विभाग के निर्देश पर सरकारी अधिवक्ता ने संबंधित न्यायालय में मुकदमा वापस करने के लिए आवेदन दिया था. जिसे अदालत ने असंवैधानिक कह कर खारीज कर दिया था. यह भी गौर करने वाली बात है कि बोकारो जिला के दारोगा पीसी देवगम को पिछले दिनों नक्सली नकुल यादव के खिलाफ गवाही देने से रोका गया था. एसे में यह सवाल भी उठ रहा है कि क्या पुलिस ने जान-बूझ कर चश्मा विकास के खिलाफ चल रहे मामलों में अदालत में सही तरीके से अपना पक्ष नहीं रखा और वह सभी 23 नक्सली घटनाओं में बरी हो गया. चश्मा विकास के खिलाफ लातेहार जिला में 06, पलामू जिला में 06 और लोहरदगा में 11 मामले दर्ज थे.

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

SMILE

इसे भी पढ़ें:एसपी थानेदार पर बना रहे हैं दबाव, सरेंडर करनेवाले नक्सली नकुल यादव के खिलाफ कोर्ट में बयान देने से कर रहे हैं मना

रिहाई के बाद डीसी ने किया स्वागत

23 घटनाओं को अंजाम दे चुके छोटा विकास महज दो साल के बाद जेल से बरी होने पर लातेहार उपायुक्त ने उसका स्वागत किया. लातेहार जिला प्रशासन के डीसी राजीव कुमार और एसपी प्रशांत आनंद ने ना सिर्फ छोटा विकास यादव का स्वागत किया बल्कि उसके व्यवहार और बोलचाल की सराहना करने से भी नहीं चुके. चश्मा विकास को इनाम के 25 लाख की राशि मिल चुकी है. अब उसे इंतजार है पूर्नवास नीति के तहत मिलने वाली सुविधाओं का.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: