न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सबके दिलों पर राज करने वाली परवीन बॉबी ‘टाइम’ मैगजीन के कवर पर छपने वाली बॉलीवुड की पहली हस्ती थी

128

News Wing Desk : 70 और 80 के दशक में अपने ग्‍लैमरस अंदाज से बॉलीवुड फिल्‍मों को नयी पहचान देने वाली सिने अदाकारा परवीन बॉबी का आज जन्‍मदिन है. अपने फिल्‍मी करियर के दौरान परवीन बॉबी ने उस वक्‍त के कई सुपरस्टारों के साथ काम किया. उनकी यादगार फिल्‍मों में  दीवार, नमक हलाल, अमर अकबर अंथनी, शान, त्रिमूर्ति आदि थी. परवीन ने अपनी अदाकारी और सबसे अलग अंदाज से बॉलीवुड में अपनी अलग ही पहचान बना ली थी. महज 56 साल की उम्र में दिमागी बीमारी सिजोफ्रेनिया की वजह से उनकी मौत हो गयी.

इसे भी पढ़ें: कोर्ट से नहीं मिली रणवीर सिंह और अर्जुन कपूर को राहत, अश्लीलता फैलाने का है आरोप

परवीन बॉबी का फिल्‍मी सफर

साल 1972 में मॉडलिंग से अपने करियर की शुरुआत करने वाली परवीन बॉबी ने 1973 में आयी फिल्‍म चरित्रसे अपने फिल्मी सफर की शुरुआत की. यह फिल्म तो ज्यादा चल नहीं सकी, लेकिन लोगों ने फिल्‍म परवीन बॉबी को काफी पसंद किया. इसके बाद साल 1974 में अमिताभ बच्‍चन के साथ उनकी फिल्‍म मजबूरआयी. इस फिल्म के जरिये परवीन ने बॉलीवुड में अपनी जगह बनायी. इसके बाद से एक के बाद करके बॉलीवुड की ग्‍लैमरस अभिनेत्री परवीन बॉबी ने हिट फिल्‍में दीं. 70 से 80 के दशक की सफल अभिनेत्रियों में हेमा मालिनी,  रेखाजीनत अमान, जया भादुडी, रीना रॉय और राखी  के साथ परवीन बॉबी का भी नाम जोड़ा जाने लगा. समान छवि और ग्‍लैमरस लुक के कारण परवीन बॉबी की तुलना अक्‍सर जीनत अमान के साथ की जाती थी. परवीन बाबी की जोड़ी अमिताभ बच्‍चन के साथ खूब पसंद की गयी. दोनों ने साथ में 8 फिल्‍में की जिसे काफी कामयाबी मिली. 1982 में अमिताभ बच्चन के साथ आयी उनकी फिल्‍म नमक हलालभी सफल रहीं. लेकिन इसके बाद से परवीन बॉबी ने फिल्‍मों से दूरी बना ली थी. 1988 में फिल्म आरक्षणमें उन्‍हें आखिरी बार फिल्‍मों में देखा गया.

पुिपुप

hotlips top

 

इसे भी पढ़ें: अलग पहचान बनाने के लिये व्यावसायिक की जगह वैकल्पिक फिल्मों को चुना : अभय देओल

टाइम मैगजीन के कवर पर छपने वाली बॉलीवुड की पहली हस्ती 

30 may to 1 june

1976 में मशहूर ‘टाइम’ मैगजीन ने बिंदास हीरोइन परवीन बॉबी को अपने कवर पेज पर जगह दी थी.  परवीन बाबी टाइम मैगजीन के कवर पर छपने वाली बॉलीवुड की पहली हस्ती बनी थी. अब इसी से अंदाजा लगा सकते हैं कि वह उस दौर में क्या स्थान रखती थीं.

िे्ि्ि

 

इसे भी पढ़ें: नहीं पड़ा भारत बंद का असर, शानदार रहा बागी 2 का कलेक्शन

परवीन का निजी जीवन

Related Posts

demo

परवीन बॉबी का जन्‍म गुजरात के जूनागढ़ के एक मुस्लिम परिवार में हुआ था. उनके पूर्वज गुजरात के पठान थे. वे बॉबी राजवंश से संबंध रखते थे. परवीन के पिता जूनागढ़ के नवाब के साथ एक सिस्टम प्रशासक थे. अहमदाबाद में स्‍कूली शिक्षा लेने के बाद परवीन बॉबी ने अंग्रेजी में मास्‍टर की डिग्री ली. जब परवीन 10 साल की थी तभी उनके पिता की मौत हो गयी.  परवीन का निजी जीवन बेहद पुथल भरा रहा. परवीन ने शादी नहीं की थी, लेकिन कई फिल्‍मों के कोस्‍टार के साथ उनके संबंध के चर्चे रहे. निर्देशक महेश भट्ट, अमिताभ बच्‍चन, कबीर बेदी, डैनी के साथ उनके नाम जुडे. बाद में परवीन ने अमिताभ खिलाफ उन्हें मारने की कोशिश करने का आरोप भी लगाया, लेकिन बाद में साफ हुआ कि यह सब उनकी बीमारी के वजह से था.  महेश भट्ट ने 2006 में बनी अपनी फिल्‍म वो लम्‍हेंके माध्‍यम से परवीन के साथ अपने रिश्‍ते को दिखाया. 

िुरप

 

इसे भी पढ़ें: IPL ओपनिंग सेरेमनी : चोट लगने के कारण परफॉर्म नहीं कर पाएंगे रणवीर सिंह

जीवन के आखिरी दिनों में परवीन दिमागी बीमारी से पीडित हो गयीं

परवीन बॉबी को जीवन में अकेलेपन और निराशा ने उन्हें अपना जल्दी ही शिकार बना लिया था. सफलता के चरम पर वह मनोरोग का शिकार हो गईं. उन्हें इलाज के लिए विदेश भी जाना पड़ा, लेकिन वह अपनी बीमारी से पूरी तरह से बाहर नहीं निकल पाईं. परवीन जितना पर्दे पर बोल्ड और बिंदास थीं, उतनी ही निजी जीवन में अकेली. डैनी, महेश भट्ट, कबीर बेदी जैसे दिग्गज कलाकारों के साथ उनकी करीबी रही, मगर परवीन की जिंदगी में ऐसा कोई नहीं आया, जो हमेशा उनका साथ देता, इसी अकेलेपन ने धीरे-धीरे परवीन बॉबी को अंदर से खाना शुरू कर दिया और पर्दे पर धूम मचाने वाली बोल्ड गर्ल, दुनिया से ऐसे विदा हुई कि किसी को कुछ पता ही नहीं चला. 2005 में मुंबई स्थित उनके फ्लैट फ्लैट के बाहर दूध और समाचारपत्र पड़े देख लोगों ने दरवाजे को खुलवाया तो पता चला कि दिलों में राज करने वाली यह अभिनेत्री दुनिया छोड़कर चली गई है. 

करररक

 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like