Uncategorized

संगीनों के साए में त्योहार मनाने को क्यों विवश हैं हम ?

Saurav Shukla

Ranchi: भारत देश अनेकता में एकता, गंगा-जमुनी तहजीब और आपसी भाईचारा की मिसाल देने वाला हमारा देश है भारत. यहां सभी धर्मों को मानने कई भाषाओं को बोलने वाले लोग सौहार्द के साथ रहते हैं. यहां का वातावरण, मौसम अन्य देशों से हमें बिल्कुल अलग बनाता है. मौसम के बदलते ही यहां त्योहार भी बदल जाते हैं.  दुर्गापूजा, दिवाली, ईद, मुहर्रम, गुड फ्राइडे, वैशाखी, लोहड़ी जैसे त्यौहार देश की अखंडता का प्रतीक है. पर्वत्यौहार में लगने वाले सेवा शिविर देश की एकता की मिसाल को दर्शाता है. जहां हिंदू धर्मावलंबी, मुहर्रम के त्यौहार पर अपने मुस्लिम भाइयों का इस्तकबाल करते हैं. तो वहीं रामनवमी के त्यौहार पर हमारे मुस्लिम भाई भी शिविर लगाकर सेवा और स्वागत से नहीं चूकते हैं. चाहे पर्व हमारे इसाई भाइयों का हो या हमारे सिख भाइयों का, हम सभी एक दूसरे के साथ मिलकर पर्व की खुशियां बांटते हैं.

लेकिन अमनपसंद इस देश के लोगों को आखिर हो क्या जाता है, जब हम कभी छोटी-छोटी बातों पर एक दूसरे का खून बहाने पर भी उतारू हो जाते हैं. हमें बदलने की जरूरत है, अपने धर्म को नहीं बल्कि अपने सोंच को. रांची जैसा शहर जहां का वातावरण अन्य क्षेत्रों से काफी अलग है. यहां के मौसम ने अविभाजित बिहार में इसे ग्रीष्मकालीन राजधानी का दर्जा दिया है. लेकिन शांतिप्रिय राजधानीवासियों को आखिर हो क्या जाता है, जब किसी भी छोटी सी बात पर हम असामाजिक तत्वों के साथ सड़क पर उतर कर हंगामा करने लगते हैं. प्रशासन के हस्तक्षेप और सुरक्षा के बीच हमारे ही समाज के प्रबुद्ध वर्ग के लोगों को सड़क पर उतरकर लोगों से शांति की अपील करनी पड़ती है. हमें अपने विवेक से काम लेने की आवश्यकता है. किसी के बहकावे या अफवाहों पर ध्यान ना देते हुए आगे बढ़ने की जरूरत है.

ram janam hospital
Catalyst IAS

हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई आपस में सब भाई-भाई की बातों को एकता और एकजुटता के साथ देना है. त्यौहार की खुशियां संगीनों के साए में नहीं बल्कि खुशियां मिल-जुलकर बांटना है. हम मुबारकबाद भी देंगे, हम शिविर भी लगाएंगे, हम हर त्यौहार को आपस में मिल-जुलकर मनाएंगे. किसी के बहकावे और ओछी राजनीतिक षड्यंत्र रचने वालों के बहकावे में नहीं आएंगे. सब मिलकर एक राह बनाएंगे और पर्व की खुशियां साथ मिलकर बाटेंगे.    

The Royal’s
Sanjeevani

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं. 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button