न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शीर्ष माओवादी विचारक और सीसी मेम्बर कोबाड गांधी को बोकारो पुलिस ने किया गिरफ्तार, चार दिन पहले ही हुए थे रिहा

40

Bokaro: माओवादी शीर्ष विचारक और सेंट्रल कमेटी के सदस्य कोबाड गांधी को बोकारो पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है. कोबाड गांधी को मंगलवार शाम विशाखापट्टनम के सेंट्रल जेल से जमानत मिलने के बाद रिहा कर दिया गया था. गांधी को छह मामलों में जमानत मिली थी, जिसके बाद वो जेल से बाहर आ गये थे.

इसे भी पढ़ेंः सीएम ने कहा विपक्ष को मिर्ची लग रही है क्या, तो हेमंत ने कहा आप अधिकारियों के जाल में फंस चुके हैं, बाहर निकलें

किडनी की बिमारी, कैंसर व अन्य रोगों से ग्रसित हैं कोबाड

66 वर्षीय कोबाड रिहा होने के बाद मुंबई स्थित अपने घर के लिए रवाना हो गए थे. इसी बीच बोकारो के एक मामले में पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया है. अब आगे मामले को लेकर कोर्ट फैसला करेगी. आठ साल से जेल में रह रहे कोबाड गांधी को किडनी की बीमारी है. इन्हें कैंसर, ब्लड प्रेशर और पेट की समस्या सहित हृदय की भी बीमारी हो गई है. गांधी जेल में कई महीनों से बीमार भी थे. 2005 में पूर्व कांग्रेस विधायक नरसी रेड्डी की हत्या के मामले में कोबाड आंध्र प्रदेश के सेंट्रल जेल में बंद थे. ये आंध्र प्रदेश के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष की 1999 में हुई हत्या में भी आरोपी हैं. इन्हें माओवादियों का शीर्ष विचारक माना जाता है.

इसे भी पढ़ेंः बकोरिया कांड का सच-01ः सीआईडी ने न तथ्यों की जांच की, न मृतकों के परिजन व घटना के समय पदस्थापित पुलिस अफसरों का बयान दर्ज किया

palamu_12

इसे भी पढ़ेंः बकोरिया कांड का सच-02ः-चौकीदार ने तौलिया में लगाया खून, डीएसपी कार्यालय में हुई हथियार की मरम्मती !

इसे भी पढ़ेंः बकोरिया कांड का सच-03- चालक एजाज की पहचान पॉकेट में मिले ड्राइविंग लाइसेंस से हुई थी, लाइसेंस की बरामदगी दिखाई ईंट-भट्ठे से

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: