न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शिवसेना ने कहा- अगले लोकसभा चुनाव में भाजपा को होगा 110 सीटों का नुकसान

53

Mumbai : गोरखपुर लोकसभा उपचुनाव में भाजपा की हार को ‘‘अहंकार और दंभ’’ की पराजय बताते हुए शिवसेना ने अपने सहयोगी दल पर जमकर हमला किया. शिवसेना ने कहा कि 2019 के आम चुनावों में संसद के निचले सदन में पार्टी को कम से कम 110 सीटों का नुकसान झेलना पड़ेगा. शिवसेना ने अपने सहयोगी पर कटाक्ष करते हुए कहा अपने दोस्तों को छोड़ने वालों और झूठ का रास्ता अपनाने वालों की हार तय है.

mi banner add

इसे भी पढ़ें – सम्मान समारोह में फिसली पूर्व डीजीपी की जुबान, बोले: ‘निर्भया की मां की फिजिक देख पता चलता है, निर्भया कितनी सुंदर रही होगी’

उपचुनाव नतीजों ने मचा दी है भाजपा में खलबली

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में एक संपादकीय में कहा है कि इन नतीजों ने भाजपा खेमे में खलबली मचा दी है. पार्टी के दो मजबूत किले- गोरखपुर और फूलपुर में सपा जीत गयी. पार्टी ने कहा कि मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद से 10 लोकसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में भाजपा नौ पर चुनाव हार गयी. उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी ने कहा कि शुरूआत में लोकसभा में भाजपा के 282 सदस्य थे, लेकिन अब यह संख्या 272 तक नीचे आ चुकी है. मोदी और शाह के नेतृत्व में भाजपा करीब-करीब सारे उपचुनाव हार चुकी है.

इसे भी पढ़ें – केंद्र सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर पार्टी का शीर्ष नेतृत्व करेगा निर्णय: अन्नाद्रमुक, टीडीपी ने वापस लिया समर्थन

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

जमीनी आधार खो चुकी है भाजपा

पार्टी ने सवाल किया है कि पिछले साल उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में 325 सीटें जीतकर भाजपा ने रिकार्ड बनाया. योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बने जबकि केशव मौर्य उपमुख्यमंत्री बने. वर्ष 1991 के बाद से आदित्यनाथ गोरखपुर सीट कभी नहीं हारे थे. लेकिन अब मुख्यमंत्री बनने के बावजूद उनकी पार्टी हार गयी. अगर भाजपा त्रिपुरा में वाम सरकार को हरा सकती है तो गोरखपुर में क्यों नहीं जीत सकती. बिहार में अररिया लोकसभा सीट और जहानाबाद विधानसभा सीट पर राजद की जीत का जिक्र करते हुए शिवसेना ने कहा कि यह सब दिखाता है कि भाजपा जमीनी आधार खो चुकी है. शिवसेना ने कहा कि अब यह साफ है कि 2019 में भाजपा को 280 सीटें नहीं मिलने वाली. सीटों की संख्या कम से कम 100-110 तक घट जाएगी. इसलिए भाजपा को जमीन पर रहना चाहिए. अपने दोस्तों को छोड़ने वालों और झूठ का रास्ता अख्तियार करने वालों की हार तय है. गिरना जब शुरू होता है तो कोई भी चाणक्य उस गिरावट को नहीं रोक सकता.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: