न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शराब पीकर प्लेन पर चढ़ने से रोका तो एयरलाइंस कर्मी को अगवा कर पीटा, जान से मारने की दी धमकी, पुलिस मामला दबाने के प्रयास में लगी रही

36

Ranchi : एयरलाइंसल कर्मीगण कृप्या ध्यान दें. अगर आप किसी धनकुबेर या पैरवीपुत्र को नशे की हालत में फ्लाइट में यात्रा करने से रोकते हैं, तो आपको अगवा कर शहर में घुमा-घुमाकर आपकी पिटाई की जा सकती है. इतना ही नहीं आपकी मदद पुलिस भी नहीं करेगी. इस रिस्क के बाद अगर आप अपना काम ईमानदारी से करना चाहते हैं, तो पिटने के लिए तैयार हो जाएं. ऐसा इसलिए कहा जा रहा है, क्योंकि इंडिगो एयरलाइंस के एक कर्मी के साथ ऐसा हुआ है. उसे अपना काम ईमानदारी से करने की बखूबी सजा मिली है. न्याय के लिए जब वो पुलिस की शरण में जा रहा है, तो वहां भी उसे धक्के मिल रहे हैं. पूरी कहानी में एयरलाइंस कर्मी के साथ ऐसा क्यों हो रहा है .

Ranchi : एयरलाइंसल कर्मीगण कृप्या ध्यान दें. अगर आप किसी धनकुबेर या पैरवीपुत्र को नशे की हालत में फ्लाइट में यात्रा करने से रोकते हैं, तो आपको अगवा कर शहर में घुमा-घुमाकर आपकी पिटाई की जा सकती है. इतना ही नहीं आपकी मदद पुलिस भी नहीं करेगी. इस रिस्क के बाद अगर आप अपना काम ईमानदारी से करना चाहते हैं, तो पिटने के लिए तैयार हो जाएं. ऐसा इसलिए कहा जा रहा है, क्योंकि इंडिगो एयरलाइंस के एक कर्मी के साथ ऐसा हुआ है. उसे अपना काम ईमानदारी से करने की बखूबी सजा मिली है. न्याय के लिए जब वो पुलिस की शरण में जा रहा है, तो वहां भी उसे धक्के मिल रहे हैं. पूरी कहानी में एयरलाइंस कर्मी के साथ ऐसा क्यों हो रहा है . यह बात शहर में चर्चा का विषय बना हुआ है. गौशिप हो रही है. लेकिन पुलिस टस-से-मस नहीं हो रही है. अभी तक मामला भी दर्ज नहीं किया गया है. ऐसा क्यों हो रहा है आसानी से समझा जा सकता है.

इसे भी पढ़ें – 6 लाख रुपया है विधानसभा अध्यक्ष के बंगले का सालाना बिल, तीन साल से नहीं भरा, बढ़कर  बिल हुआ 17.22 लाख रुपया

क्या है मामला ?

कुछ दिन पहले नशे की हालत में अंकित काबरा और शिवेन्द्र शिवम एयरपोर्ट पर हंगामा कर रहे थे. मना करने पर नशे की हालत में टर्मिनल के मैनेजर मनोज सिन्हाइंडिगो के मैनेजर अभय पाण्डेय और मो रिजवान कादिर के साथ उन्होंने गाली-गलौज की. कर्मी के साथ धक्का मुक्की की और जान से मारने की धमकी भी देने लगे. इसके बाद उन दोनों को फ्लाईट चढ़ने से रोक दिया गया. 14 मार्च की रात होटल कैपिटल हिल में आयोजित एक कार्यक्रम में एयरलाइंस कर्मी मोहित शामिल था. तभी दो लोग जो एयरपोर्ट की घटना में शामिल थेउनके साथ अन्य चार पांच अज्ञात लोग मोहित को पकड़कर होटल के पार्किंग तक जबरदस्ती ले गए और गाड़ी नo. JH01BE-3242 में बैठाकर उनके साथ मारपीट की. यह गाड़ी रांची के एवीएन ग्रांड होटल के गेट पास भी कुछ देर के लिए रुकी. उसके बाद शहर के विभिन्न सड़कों पर दौड़ती रही और आरोपी एयरलाइंस कर्मी के साथ गाली-गलौज और मारपीट करते रहे. आरोपों के मुताबिक मोहित को मारपीट के बाद जिन्दा जलाने का भी प्रयास किया गया. वहीं छेड़खानी के झूठे आरोप में फंसाने की भी धमकी दी. मोहित ने जब इसकी सूचना परिजनों को दीतब परिजनों ने 100 नंबर पर डायल कर पुलिस को इसकी सूचना दी.

इसे भी पढ़ें – झारखंड सरकारी कर्मियों की बल्ले-बल्ले, निर्वाचन आयोग ने दी सातवें वेतनमान के लिए हरी झंडी, बढ़कर मिलेंगे कई भत्ते

परिवार वाले पुलिस की कार्रवाई पर उठा रहे हैं सवाल

हिन्दपीढ़ी थाना में इंडिगो एयरलाइंस रांची के सीनियर एक्जीक्यूटिव सिक्यूरिटी मोहित कुमार ने दो लोगों के खिलाफ मारपीट और जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज कराया है. मोहित के पिता उमाशंकर सिंह ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस का रवैया ठीक नहीं है. पहले तो पुलिस प्राथमिकी दर्ज करने में आनाकानी कर रही थीपुलिस कार्रवाई के बदले मामला उठाने का दबाव दे रही थी. आरोपियों का पक्ष लेकर पुलिस कार्रवाई नहीं करना चाहती है. मोहित कुमार एचईसी कॉलोनी के रहने वाले हैं. इस मामले को लेकर जब हिदपीढ़ी थाना प्रभारी से बातचीत की गयी तो उन्होंने बताया कि मामले को लेकर प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है. मामले की जांच की जा रही है. 

इसे भी पढ़ें – विकास तिवारी गैंग के 40 लोगों की हत्या करने वाले हैं श्रीवास्तव गिरोह के अपराधी

आरोपी पर डोरंडा थाना में भी मामला दर्ज

एयरपोर्ट पर हंगामा करने और कर्मियों के साथ धक्का मुक्की करने को लेकर इंडिगो एयरलाइन्स के उप प्रबंधक अभय कुमार पाण्डेय ने डोरण्डा थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी है. दर्ज प्राथमिकी में अंकित काबरा और शिवेन्द्र शिवम को आरोपी बनाया गयाजिसमें बताया गया कि दोनों मुंबई की यात्रा करना चाहते थे. दोनों ऩशे की हालत में थे, जिस कारण खड़े भी नहीं हो पा रहे थे. बहरहाल पुलिस ने कार्रवाई में लेटलतीफी और लापरवाही के आरोपों से पल्ला झाड़ते हुए जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है. यानि पीड़ित को इंसाफ मिल पाएगा या नहींपुलिसकर्मियों को इससे इत्तेफाक नहीं.

 न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: