न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

वैज्ञानिकों ने खोज निकाला बुढ़ापे में कमजोर पड़ती मांसपेशियों को जवान करने का राज

40

London : वैज्ञानिकों ने इस बात का पता लगा लिया है कि बुढ़ापे में लोगों की मांसपेशियां क्यों कमजोर होने लगती हैं. ऐसी संभावना है कि इस खोज से भविष्य में इसका इलाज संभव हो सकेगा. जैसे- जैसे लोग बुढ़ापे की तरफ बढ़ते जाते हैं, उनकी मांसपेशियां तेजी से छोटी और कमजोर पड़ती जाती हैं. जिससे कमजोरी और अक्षमता बढ़ती जाती है.

इसे भी पढ़ें –निएंडरथल मानव असभ्य और असंस्कृत नहीं थे

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

SMILE

लंबे समय तक जीने वाले हर व्यक्ति को इस प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है. हालांकि अब तक इस प्रक्रिया को बेहतर तरीके से समझा नहीं जा सका था.जर्नल ऑफ फिजियोलॉजीमें प्रकाशित अनुसंधान से पता चला है कि, तंत्रिका तंत्र में बदलाव होने की वजह से मांसपेशियां कमजोर होती जाती हैं.

ब्रिटेन की मैनचेस्टर मेट्रोपोलिटन यूनिवर्सिटी और द यूनिवर्सिटी ऑफ मैनचेस्टर के साथ ही कनाडा के यूनिवर्सिटी ऑफ वाटरलू के अनुसंधानकर्ताओं ने मांसपेशी उत्तक के बारे में विस्तृत जानकारी हासिल करने के लिए एमआरआई का इस्तेमाल किया. 75 साल की उम्र तक पैरों को नियंत्रित करने वाला तंत्रिका तंत्र30 से50 फीसदी तक कमजोर हो जाता है. इससे मांसपेशियों के कुछ हिस्से का संपर्क तंत्रिका तंत्र से टूट जाता है. इस प्रक्रिया में मांसपेशियां कमजोर होने लगती हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: