Uncategorized

वैज्ञानिकों ने खोज निकाला बुढ़ापे में कमजोर पड़ती मांसपेशियों को जवान करने का राज

London : वैज्ञानिकों ने इस बात का पता लगा लिया है कि बुढ़ापे में लोगों की मांसपेशियां क्यों कमजोर होने लगती हैं. ऐसी संभावना है कि इस खोज से भविष्य में इसका इलाज संभव हो सकेगा. जैसे- जैसे लोग बुढ़ापे की तरफ बढ़ते जाते हैं, उनकी मांसपेशियां तेजी से छोटी और कमजोर पड़ती जाती हैं. जिससे कमजोरी और अक्षमता बढ़ती जाती है.

इसे भी पढ़ें –निएंडरथल मानव असभ्य और असंस्कृत नहीं थे

लंबे समय तक जीने वाले हर व्यक्ति को इस प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है. हालांकि अब तक इस प्रक्रिया को बेहतर तरीके से समझा नहीं जा सका था.जर्नल ऑफ फिजियोलॉजीमें प्रकाशित अनुसंधान से पता चला है कि, तंत्रिका तंत्र में बदलाव होने की वजह से मांसपेशियां कमजोर होती जाती हैं.

ब्रिटेन की मैनचेस्टर मेट्रोपोलिटन यूनिवर्सिटी और द यूनिवर्सिटी ऑफ मैनचेस्टर के साथ ही कनाडा के यूनिवर्सिटी ऑफ वाटरलू के अनुसंधानकर्ताओं ने मांसपेशी उत्तक के बारे में विस्तृत जानकारी हासिल करने के लिए एमआरआई का इस्तेमाल किया. 75 साल की उम्र तक पैरों को नियंत्रित करने वाला तंत्रिका तंत्र30 से50 फीसदी तक कमजोर हो जाता है. इससे मांसपेशियों के कुछ हिस्से का संपर्क तंत्रिका तंत्र से टूट जाता है. इस प्रक्रिया में मांसपेशियां कमजोर होने लगती हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Telegram
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close