न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

विधि व्यवस्था को लेकर विपक्ष ने बिहार विधानमंडल के दोनों सदनों में किया हंगामा

10

News Wing

Patna, 29 November : बिहार में खराब विधि व्यवस्था का आरोप लगाते हुए विपक्षी सदस्यों ने विधानमंडल के दोनों सदनों में हंगामा किया. बिहार विधानसभा की आज कार्यवाही शुरू होने पर विपक्षी सदस्यों ललित यादव, रामदेव राय और विजय शंकर दुबे द्वारा प्रदेश में गिरती विधि व्यवस्था को उठाया. प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने इसे एक बहुत महत्वपूर्ण मुद्दा बताया. अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी के इस पर विचार नहीं किए जाने के बाद आसन के करीब आकर विपक्षी सदस्य हंगामा करने लगे और बाद में सभी सदन बहिर्गमन कर गए.

निश्चय योजना की अवैध राशि की निकासी पर सवाल

इससे पूर्व प्रश्नोत्तर काल के दौरान ललित यादव के प्रदेश के एक जिले में मुख्यमंत्री निश्चय योजना की अवैध राशि की निकासी को लेकर सरकार द्वारा जवाब की मांग की. पंचायती राज मंत्री कपिल देव कामत ने बताया कि मामले की जांच के लिए एक जांच समिति पहले से ही गठित कर दी गयी है. इस मामले में मुखियाओं के खिलाफ शिकायतें दर्ज की गयी हैं. इसके अतिरिक्त राज्य के सभी जिलाधिकारियों से कहा गया है कि वे अपने अपने जिलों में ऐसी किसी भी तरह की अनियमितता की जांच कर लें.

जवाब से तेजस्वी असंतुष्ट
मंत्री के जवाब से असंतुष्ट तेजस्वी ने आरोप लगाया कि राज्य में भ्रष्टाचार बड़े पैमाने पर व्याप्त है. अधिकारी ऐसी अनियमितताओं को मिटाने की कोशिश करने में लगे हैं. मुख्यमंत्री को सदन में आकर स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए.
सदन में मौजूद उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आश्वासन दिया कि सरकार किसी को भी किसी को नहीं बख्शेगी. चाहे वह चारा घोटाला था, बिटुमन घोटाला या श्रीजन घोटाला हो.

यह भी पढ़ें : सुरक्षा घटाये जाने से गुस्साये लालू, कहा : मेरी रक्षा बिहार की जनता करेगी, मोदी-शाह कर रहे साजिश
तेजस्वी ने कहा कि उपमुख्यमंत्री केवल मंत्री की बातों को दोहरा रहे हैं. सरकार को सदन को बताना चाहिए कि कितने वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ और मंत्रियों पर अब तक कार्रवाई की गई है. प्रतिपक्ष के नेता की जल संसाधन मंत्री लालन सिंह के साथ भागलपुर के एक बांध के मुख्यमंत्री द्वारा उद्घाटन किए जाने के पूर्व ही ढहने को लेकर भी नोंकझोंक हुई.

बिहार विधान परिषद में भी राजद सदस्य सुबोध कुमार द्वारा विधि ​व्यवस्था को लेकर लाए गए कार्यस्थगन प्रस्ताव को उपसभापति हारून रशीद के अस्वीकृत कर दिए जाने पर राजद सदस्यों शून्यकाल के दौरान सदन के बीच में आकर हंगामा करने पर उपसभापति ने सदन की कार्यवाही भोजनावकाश तक के लिए स्थगित कर दी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: