न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

विधानसभा में उठा औरंगाबाद झड़प का मामला, CM ने कहा- कुछ लोग होते हैं जो विवाद और तनाव पैदा करना चाहते हैं

18

Aurangabad:  बिहार के औरंगाबाद शहर में रामनवमी के अवसर पर रविवार को हुए दो समुदायों के बीच हुई झड़प के बाद निषेधाज्ञा लागू कर दी गयी है. बिहार विधानसभा में इस मामले को प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद द्वारा उठाए जाने के तरीके पर ऐतराज जताते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि समाज में कुछ इस तरह के तत्व होते हैं, जो विवाद और तनाव पैदा करना चाहते हैं और ऐसे तत्वों पर पूरी निगरानी रखनी चाहिए तथा अपनी तरफ से उसे उभारने के बजाए उसे नियंत्रित करने की कोशिश करनी चाहिए .

इसे भी पढ़ें: औरंगाबाद में रामनवमी जुलूस के दौरान फिर भड़की हिंसा, प्रशासन ने कर्फ्यू लगाया

 स्थिति तनावपूर्ण पर नियंत्रण में

उन्होंने कहा कि झगडे़ को कभी दंगे में तब्दील नहीं होने देना चाहिए और अब तक हम लोगों ने ऐसा ही किया है . औरंगाबाद के जिलाधिकारी राहुल रंजन महिवाल ने बताया कि सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गयी है . स्थिति तनावपूर्ण पर नियंत्रण में है. उन्होंने औरंगाबाद शहर में कर्फ्यू लगाए जाने और देखते ही गोली मार देने का आदेश जारी किए जाने की चर्चा को गलत बताया.

इसे भी पढ़ें:  वैशाली : अगलगी में 80 घर जलकर खाक, नकदी, गहने, कपड़े व अनाज भी जले, रहने व खाने के परे लाले

नीतीश ने सिद्दीकी से कहा – तेजस्वी को सिखाते कुछ क्यों नहीं

बिहार विधानसभा में सोमवार को अगले वित्तीय वर्ष के लिए गृह विभाग के बजटीय मांग पर चर्चा के बाद प्रभारी मंत्री विजेंद्र प्रसाद यादव द्वारा सरकार की ओर से जवाब देने के क्रम में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी ने यह आरोप लगाये कि औरंगाबाद में पिछले कई घंटों से दंगा जारी है, इस दौरान एक समुदाय विशेष की कई दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया है, तथा वहां कर्फ्यू लागू है. इस पर मुख्यमंत्री ने हस्तक्षेप करते हुए तेजस्वी के बगल में बैठे राजद के वरिष्ठ सदस्य अब्दुल बारी सिद्दीकी से कहा कि वे उन्हें क्यों नहीं सिखाते. उन्होंने तेजस्वी की ओर मुखातिब होकर कहा कि इस तरह की चीजों के बारे में बहुत प्रमुखता से बोलना संप्रदायिक तनाव पैदा करने की बात हो जाती है इसलिए ऐसी बातों को नहीं बोलना चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ अपवाद को छोडकर बिहार में रामनवमी का पर्व शांतिपूर्वक संपन्न हो गया .

इसे भी पढ़ें:  बिहार में अपराधी बेलगाम, स्कॉर्पियो से कुचलकर सरेआम पत्रकार की हत्या, SIT ने पूर्व मुखिया को किया गिरफ्तार

कर्फ्यू या पुलिस गोलीबारी की सूचना नहीं : नीतीश

उन्होंने यह भी कहा कि औरंगाबाद में कर्फ्यू या पुलिस गोलीबारी की सूचना नहीं है. मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सभी पुलिस महानिदेशक और गृह सचिव संबंधित लोगों से बातचीत कर रहे हैं . वरिष्ठ अधिकारियों ने घटनास्थल पहुंचकर स्थिति को नियंत्रित कर लिया है. औरंगाबाद के पुलिस अधीक्षक सत्यप्रकाश ने बताया कि कल शाम रामनवमी के अवसर पर मोटरसाइकिल जुलूस के दौरान दो पक्षों में तनाव और नोंकझोंक के बाद आज फिर से अखाडा के लोगों के मस्जिद मुहल्ला पार कर आगे बढने पर दो पक्षों के बीच टकराव बढा और पथराव शुरू हो गया . कुछ अराजक तत्वों द्वारा आगजनी भी की गयी जिसके बाद निषेधाज्ञा लागू की गयी .

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: