न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

वार्ड 52 की जमीनी हकीकत : सड़क, बिजली, पानी सहित बुनियादी सुविधाओं को तरसती हुंडरू बस्ती

342

Ranchi : रांची का हिनू चौक, इंदिरा प्लेस, कुंवर सिंह कॉलोनी, मनी टोला. ये वार्ड 52 के वो इलाके हैं जहां सुविधाओं के नाम पर शायद कुछ मिल भी जायेगा. लेकिन छोटा घाघरा, हुंडरू बस्ती, हुंडरू दीप नदी जैसे क्षेत्र के लोग लगभग सारी सरकारी सुविधाओं से वंचित हैं. यहां के लोगों की शिकायत है कि इन्हें न सड़क मिली है, और न बिजली-पानी. बस जिंदगी सुदूरवर्ती इलाकों की तरह गुजर-बसर कर रहे हैं. यहां के लोगों का कहना है कि यहां वादे और दावे बहुत हुए, पर विकास कुछ भी नहीं.

इसे भी पढ़ें- वार्ड 49 में भी सड़क और पानी की समस्या से जुझ रहे हैं लोग, शिकायत के बाद भी नहीं हो रही किसी तरह की पहल

जान जोखिम में डालकर बांस की पुलिया से गुजरते हैं बच्चे

इस वार्ड के हुंडरू दीप नदी की एक तस्वीर ऐसी है जिसे देखकर लोग हैरान हो जाएंगे. क्योंकि यहां हर दिन खतरे में डाली जाती है जान. शौक से नहीं, बल्कि मजबूरी में. यहां रोजाना करीब हजार लोग टूटी हुई बांस की पुलिया से ही आना-जाना करते हैं. छोटे छोटे बच्चे जान को जोखिम में डालकर स्कूल जाते हैं. उमरा कच्छप कहते हैं कि हमलोगों की जिंदगी गांव से भी बदतर है. यहां न सड़क है, और ना बिजली-पानी की कोई व्यवस्था. विधायक से लेकर पार्षद तक गुहार लगाकर थक चुके हैं. वहीं हुंडरू बस्ती के अमित कुमार कहना है कि यहां किसी प्रकार की सुविधा नहीं है. चलने के लिए सड़क तक नहीं. यही हाल छोटा घाघरा का है. यहां के लोग जर्जर सड़क और पानी किल्लत से जूझ रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- झारखंड के 46 बीडीओ के वेतन पर रोक,  होगा आरोप गठन

एक दशक में भी नहीं बन पाई मनी टोला की मुख्य सड़क

नीम चौक से लेकर मनी टोला तक जाने वाली सड़क पूरी तरह से जर्जर है. दिनेश और अफजल कहते हैं कि इसे हमलोग खतरनाक सड़क कहते हैं. हजारों लोगों के आने-जाने वाली यह सड़क पिछले दस साल में नहीं बन पाई. इनका कहना है कि बरसात में यह इलाका गटर बन जाता है. घरों से निकलना मुश्किल हो जाता है. पार्षद और विधायक दोनों के ही यह बात संज्ञान में है. कई बार इसे लेकर शिकायत भी की जा चुकी है. लेकिन आजतक लोगों को आश्वासन के नाम पर सिर्फ छलावा ही मिला है.

इसे भी पढ़ें- आरा मिल में लगी आग, 20 लाख का नुकसान

 पार्षद का पक्ष

इस वार्ड की पार्षद का कहना है कि मैंने पांच साल में एक करोड़ की लागत से सड़क का निर्माण करवाया है. पानी की समस्या दूर करने के लिए 15 मिनी एचवाईडीटी लगवाएं हैं. नाली बनाई गई है. दो सौ लोगों को निजी शौचालय का लाभ मिला है. चार सौ करीब लोगों को पीएम आवास योजना का लाभ मिला है. 13 लोगों राशन कार्ड बना है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: