न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

वार्ड-14 की जमीनी सच्चाई : गोसाई टोली जल संकट से त्रस्त, सफाई व्यवस्था का खस्ताहाल

155

Ranchi : अगर आप रांची के वार्ड नंबर-14  से होकर गुजरें तो तंत्र की बेरुखी से उपजी समस्याएं अपने आप ही नजरों के सामने दिखाई देगी. गोसाई टोली के लोग जल संकट से जूझ रहे हैं. बर्तन-बासन लेकर हर रोज सुबह यहां के लोगों को दूसरों के दर पर जाना पड़ता, क्योंकि इन इलाकों में सप्लाई वाटर भी नहीं है. यहीं नहीं यहां के लोगों की एक और समस्या है वह है सड़क पर बहता नाली का पानी, जो बरसात के दिनों घरों घुस आता है. लोगों का कहना है कि पार्षद सिर्फ शिकायत सुनते हैं, पर हल करने में कोई कास दिलचस्पी नहीं रखते. यानि अपने जनप्रतिनिधि से जनता को जो उम्मीद होनी चाहिए, वो लोगों के मुताबिक अब तक पूरी नहीं हो सकी है.

इसे भी पढ़ें-  वार्ड-15 का सच : सड़क-पानी और सफाई को लेकर है लोगों की शिकायत

पानी के लिए हैं त्रही-त्रही

अपर चुटिया गोसाई टोली के लोगों का कहना है कि यहां बारह माह पानी की समस्या रहती है. सुनीता देवी कहती हैं कि गर्मी के दिनों पानी की परेशानी बहुत बढ़ जाती है. दुर्गा देवी कहती हैं कि पार्षद को कई बार इससे अवगत करा चुके हैं, लेकिन आज तक इसका हल नहीं किया गया है. सप्लाई वाटर भी यहां नहीं है. अनीता देवी ने कहा कि एक इस पूरे मुहल्ले में एक ही सरकारी चापाकल, जो अक्सर खराब रहता है. हमलोग पानी के लिए त्राहिमाम् कर उठते हैं. नाली के पानी से यहां के लोग परेशान है. इनका कहना है कि नाली का गंदा पानी सड़क पर ही बहता है. बरसात में काफी दिक्कत होती है. नाली का पानी जब घरों में घुसता है तो जीना मुहाल हो जाता है.

इसे भी पढ़ें- वार्ड 16 की हकीकत : कूड़े-कचरे के अंबार पर जिंदगी बसर कर रहे इस्लाम नगर के लोग

वार्ड

नहीं आता कचरा उठाने वाला

धुमसा टोली के रहने वाले दिगंबर साहू का कहना है कि कचरा उठाने वाली निगम की गाड़ी इधर नहीं आती है. और अगर कभी-कभी आती है तो कचरा पूरी तरह से उठाती ही नहीं है. नाली की सफाई पिछले छह माह से इधर नहीं की गई है. ऐसा लगता है कि पार्षद का काम सिर्फ वोट मांगना ही है.

 क्या है पार्षद का पक्ष ?

वार्ड 14 के वार्ड पार्षद विजय तिर्की ने कहा है कि अपने कार्यकाल के दौरान एक करोड़ 20 लाख की लागत से सड़क बनवायी है. 80 लाख रुपए नाली निर्माण में खर्च किया है. अपने वार्ड में 18 हैंडपंप भी लगवाए हैं. साथी ही वार्ड के लोगों का विधवा पेंशन, वृद्धा पेंशन और अन्य बुनियादी सुविधाओं को भी ठीक करने की कोशिश की है. हालांकि उन्होंने गोसाई टोली में पानी की समस्या को स्वीकार करते हुए कहा कि गली में जगह नहीं होने के कारण पानी की व्यवस्था नहीं कर पाया. जबकि नालियों की सफाई के लिए कम लेबर दिए जाने की बात कही.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: