न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

वार्ड नौ : दो टर्म निगम चुनाव के बाद भी नहीं बदली स्थिति, गंदगी के ढेर पर रहने को मजबूर हैं गितिल कोचा के लोग

49

Ranchi : वार्ड नंबर-9 स्थित गितिल कोचा के लोग बीते पंद्रह साल से गंदगी के ढेर और बदहाल सड़क के बीच रहने को मजबूर हैं. कोकर स्थित आदिवासी बहुल्य गितिल कोचा में की तस्वीर स्वच्छ भारत अभियान को मुंह चिढ़ा रही है. ऐसा मालूम पड़ता है कि इस इलाके के लिए रांची नगर निगम ने अपनी नजर बंद कर ली है. स्थानीय लोगों का कहना है कि बच्चे कचरे के ढेर पर खेलने को मजबूर हैं.

इसे भी पढ़ें – तत्कालीन भवन निर्माण विभाग की प्रधान सचिव राजबाला वर्मा ने टेंडर मैनेज करने वाले इंजीनियरों को दिया संरक्षण, सरयू राय ने जांच के लिए सीएम को लिखी चिट्ठी

इसे भी पढ़ें – रांची : पार्ट वन की परीक्षा में आया सिलेबस से बाहर का प्रश्न , विरोध में 20 हजार परीक्षार्थियों ने जमा कर दी खाली आंसर शीट

इसे भी पढ़ें –  पुलिस के हत्थे चढ़े 4 साइबर अपराधी, फर्जी बैंक अधिकारी बनकर लोगों को लगाते थे चूना  

नहीं होता है कचरे का उठाव

वार्ड नंबर नौ के पार्षद सरोज गाड़ी के निधन के बाद इस बस्ती में सफाई व्यवस्था पहले की तुलना में और खराब हुई है. सरीता एक्का कहना है कि इधर चारों तरफ बहता हुआ गंदा पानी और कच्ची सड़कों पर बिखरा हुआ कचरा मिल जायेगा. इधर से न ही कचरा का उठाव होता है, और ना आजतक सड़क बनायी गयी है. पुष्पा करमाली कहती हैं कि घरों के सामने गंदगी का अंबार लगा रहता है. गंदा पानी पिछले कई सालों से मैदान में जमा है, इसे देखना वाला कोई भी नहीं है.

इसे भी पढ़ें- उज्‍जवला योजना : 45 दिनों 15 लाख लाभुकों को गैस कनेक्‍शन, 2 महीने में 312 नये एलपीजी डीलर का लक्ष्‍य -रघुवर दास   

सड़क-नाली बदहाल

गीतिल कोचा में बजबजा रही नाली

वार्ड नंबर नौ के भाभा नगर, टुंकी टोला में कई इलाके की सड़क आज भी कच्ची है, जहां नालियों का पानी बहता रहता है. विष्णु करमाली ने कहा कि इन सड़कों पर दो पहिया गाड़ी भी नहीं चल पाती है. वार्ड पार्षद के निधन के बाद इस इलाके को कोई पूछने वाला भी नहीं है.

इसे भी पढ़ें – चारा घोटाला : दुमका कोषागार से तीन करोड़ ग्यारह लाख की फर्जी निकासी मामले में फैसला टला, 16 को आ सकता है

इसे भी पढ़ें – कुख्यात राकेश भुइयां दस्ते का सफाया, अत्याधुनिक हथियार सहित शिकंजे में चार नक्सली

20 दिन पहले ही बिछी है सप्लाई वाटर पाइप

सरिता कच्छप का कहना है कि हमलोग कई साल से कुएं और दूसरे के यहां से पानी लाकर अपनी जरूरत पूरी करते थे. 20 दिन पहले ही यहां सप्लाई वाटर की पाइप बिछी है, जिससे अब पानी मिल रहा है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: