न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

वार्ड चार में सड़क नहीं, कच्चे रास्ते पर चलते हैं लोग, कुएं और तालाब से चल रहा काम

102

Ranchi : बड़गाई के अंतर्गत आने वाले वार्ड नंबर चार के लोग सुविधाओं की मांग अब नहीं करते हैं, क्योंकि इनकी मांगों को हमेशा अनसुना कर दिया जाता है. यहां की जनता पानी के लिये तालाब और कुएं पर निर्भर है. जबकि चलने के लिये इस इलाके में कई जगहों पर रोड की जगह कच्ची सड़क है.

इसे भी पढ़ें- झारखंड सरकारी कर्मचारियों को सांतवा वेतनमान के भत्ते पर कैबिनेट की मुहर, राज्य निर्वाचन आयोग की हरी झंडी के बाद मिलेगा लाभ

मजबूरी में आती हैं तालाब में नहाने को महिलायें

वार्ड नंबर चार की निवासी गजाला परवीन का कहना है कि उन्हें कपड़ा धोने के लिये तीन किलोमीटर दूर तालाब में जाना पड़ता है. चापाकल नहीं रहने पर नहाने-धोने के लिए तालाब और मजबूरी में कुएं का गंदा पानी पीना पड़ता है. वो बताती हैं कि यहां की महिलायें मजबूरी में इस तालाब में आती हैं. उग्नी देवी कहती हैं कि हमलोगों को सरकारी कोई भी सुविधा नहीं मिलती है. सड़क और पानी किसी वार्ड की बुनियादी सुविधा होती है, जिससे बस्ती के लोग वंचित हैं. कई बार इसकी शिकायत की गयी है, लेकिन हर बार शिकायत को अनसुना कर दिया गया है. इसलिये अब हमलोग कोई शिकायत नहीं करते हैं. मधू देवी कहती हैं कि पानी की समास्या यहां के अधिकतर घरों में हैं. इसे दूर करने की कोई ठोस कोशिश अबतक नहीं हुई है. महावीर महतो का कहना है कि हमलोग के मुहल्ले में चलने के लिये कच्ची सड़क है. केयरी पर चलकर घर जाते हैं. वहीं दिपक कुमार महतो को उम्मीद है कि चुनाव से पहले तक हो सकता है कि इन समास्याओं को वोट लेने के लिए हल कर लिया जाये. 

इसे भी पढ़ें- खूंटी : ग्रामीणों का आरोप- स्‍कूल में स्थित कैंप के जवान करते हैं महिलाओं से छेड़छाड़, कैंप हटाने की ग्राम सभा ने दी नोटिस (देखें वीडियो)

इसे भी पढ़ें- ट्विटर पर प्रधानमंत्री मोदी के 2 करोड़ 44 लाख फॉलोअर्स फर्जी, ट्विटर ऑडिट के जरिये खुलासा

पार्षद का पक्ष

इस मामले में जब पार्षद का पक्ष लेने के लिये उन्हें फोन किया गया तो उनका फोन नहीं लगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: