न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लोहरदगा : इंटर साइंस की परीक्षा देकर लौटी, सुसाइड नोट छोड़ा और फंदे से झूल गयी छात्रा

53

Lohardaga : लोहरदगा शहरी क्षेत्र के महावीर चौक में बुधवार की दोपहर इंटर विज्ञान की छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. छात्रा ने आत्महत्या करने से पहले सुसाइड नोट लिखा है, जिसमें उसने लिखा है कि मम्मी-पापा मुझे माफ करना, मैं आपके सपने को पूरा नहीं कर पायी सॉरी. पुलिस ने सुसाइड नोट को जब्त कर लिया है. साथ ही शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया. बताया जाता है कि सदर थाना क्षेत्र के नदी नगड़ा गांव निवासी रंजन लोहरा थल सेना में जवान है. वह फिलहाल असम में कार्यरत है. पूजा कुमारी (16 वर्ष) परिवार के अन्य सदस्यों के साथ लोहरदगा के महावीर चौक स्थित मनोज अग्रवाल के घर में किराये के मकान में रह रही थी. बुधवार को घर में पूजा, अंकित, और पूजा की नानी इतवारी मौजूद थी. बुधवार दोपहर सभी टीवी देख रहे थे. इसी दौरान इतवारी किसी काम से कमरे से बाहर निकली. जबकि अंकित शौच के लिए बाथरुम गया. तभी पूजा ने कमरे का दरवाजा बंद कर फांसी लगा ली. अंकित वापस लौटा तो कमरे का दरवाजा बंद पाया. इसके बाद उसने खिड़की से झांक कर देखा तो पूजा को फांसी से लटका हुआ पाया. शोर मचाने पर आसपास के लोग जमा हो गए. सदर थाना पुलिस को सूचना दी गयी.

रांचीः अरगोड़ा चौक पर नव वर्ष का झंडा लगाते वक्त पाइप बिजली के तार से सटा, एक की मौत, पांच घायल

इसे भी पढ़ें –कौन बनेगा कोल इंडिया का चैयरमैन !

पुलिस ने दरबाजा तोड़कर छात्रा को फंदे से नीचे उतरा

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दरवाजा तोड़कर स्थानीय लोगों की सहायता से पूजा को फांसी के फंदे से नीचे उतारा. तब तक उसकी मौत हो चुकी थी. पूजा फिलहाल इंटर विज्ञान की परीक्षा दे रही थी. वह मंगलवार को ही परीक्षा देकर लोहरदगा आयी थी. इस घटना से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. किसी को कुछ भी समझ में नहीं आ रहा है. फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच में जुट गयी है.

इसे भी पढ़ें –उज्‍जवला योजना : 45 दिनों 15 लाख लाभुकों को गैस कनेक्‍शन, 2 महीने में 312 नये एलपीजी डीलर का लक्ष्‍य -रघुवर दास        

 न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: