न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लिंग परीक्षण को लेकर SC ने केंद्र को दिया निर्देश, कहा तीनों सर्च इंजनों के साथ करे बैठक

101

New Delhi: उच्चतम न्यायालय ने केंद्र को बुधवार को निर्देश दिया कि वह सर्च इंजन-गूगल, याहू और माइक्रोसॉफ्ट इंजन जैसे पक्षों के साथ बैठक करे जिससे कि यह सुनिश्चित हो सके कि गर्भस्थ शिशु के लिंग परीक्षण को निषिद्ध करने वाले भारतीय कानूनों का उल्लंघन करने वाली सामग्री इन वेबसाइटों पर प्रदर्शित नहीं हो.

यह भी पढ़ें: सरकार ने माना मोमेंटम झारखंड के बाद किया फर्जी कंपनी से 6400 करोड़ का करार, पूछे जाने पर विधायक को दी गलत जानकारी

Trade Friends

छह सप्ताह के भीतर होनी चाहिए बैठक

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

WH MART 1

प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा और न्यायमूर्ति एएम खनविलकर तथा न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड़ की पीठ ने यह भी निर्देश दिया कि बैठक बुधवार से छह सप्ताह के भीतर होनी चाहिए और याचिकाकर्ता के सुझावों पर भी विचार किया जाना चाहिए. याचिकाकर्ता साबू मैथ्यू जॉर्ज की ओर से पेश संजय पारिख ने कहा कि सर्च इंजन- गूगल, याहू और माइक्रोसॉफ्ट लिंग परीक्षण से संबंधित सामग्री को हटाने में खुद सक्षम हैं. इस तर्क का सर्च इंजनों की ओर से पेश वकील ने विरोध किया. शीर्ष अदालत ने जनहित याचिका को निपटाते हुए कहा कि केंद्र नोडल एजेंसी है और विशेषज्ञ कदम उठाएंगे जिससे कि संबंधित कानूनों का उल्ल्ंघन न हो.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like