न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लातेहार: गारू प्रखंड के आदिम जनजाति आवासीय विद्यालय में शिक्षक एक महीने से गायब, छात्रों की पढ़ाई भगवान भरोसे

17

News wing

Latehar, 7 December : जिले का गारू प्रखण्ड आज़ादी के बाद से ही सरकारी अपेक्षाओ का दंश झेल रहा है. आदिम जनजाति बहुल प्रखण्ड होने के बावजूद भी आदिम जनजातियों को मिल रही सुविधायें ना के बराबर हैं. उदहारण स्वरूप गारू प्रखंड मुख्यालय में आदिम जनजाति आवासीय उच्च विद्यालय है और इसमें कुल 160 छात्र हैं. जबकि इस विद्यालय में पढ़ाने वाले शिक्षक की संख्या सिर्फ एक है और 160 छात्रों की पढ़ाई भी उन्हीं के भरोसे है. जिससे बच्चों को खासी परेशानी होती है. आदिम जनजाति आवासीय उच्च विद्यालय के आदिवासी बच्चों ने उपायुक्त पीके गुप्ता से शिक्षक की मांग की है. लेकिन देखना है कि बच्चों की यह मांग कब पूरी होगी. चूंकि आदिम जनजाति आवासीय उच्च विद्यालय की यह स्थिति कोई की नयी बात नहीं है बल्कि वर्षों से है. हालांकि इसकी शिकायत कई बार पहले भी हो चुकी है.

यह भी पढ़ें – बकोरिया कांड: मृतक के परिजन को 20 लाख देकर केस मैनेज करने की कोशिश 

एक महीने से गायब हैं शिक्षक

दरअसल छात्रों की सबसे बड़ी परेशानी यह है कि गारू प्रखंड के पहाड़कोचा विद्यालय के शिक्षक अरविंद नगेशिया पिछले एक महीने से विद्यालय से गायब हैं. वहीं विद्यालय में शिक्षकों के नहीं आने से छात्र काफी परेशान हैं. हालांकि छात्रों ने विद्यालय में शिक्षक के नहीं आने की वजह से छात्र उनकी वास पर भी गये. लेकिन शिक्षक अरबिंद नगेशिया के ना मिलने पर छात्रों ने इसकी शिकायत प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी को किया.

उल्लेखनीय है कि गारू प्रखण्ड में सरकारी स्कूल अति सुदूर इलाके में स्थित है और सुदूर इलाका होने की वजह से ही पूरा लाभ शिक्षक उठाते हैं. जिले के गारू प्रखण्ड के पंडारा, विजयपुर, जयगिर, लाटू ,कुज्रुम अदि विद्यालयों में यही स्थित बनी रहती है. स्कूल के सुदूर इलाके में होने के साथ ही नक्सलग्रस्त होने की वजह से भी विभाग के वरीय अधिकारी शिक्षकों पर जाँच करने की हिमाकत नहीं करते हैं और इसी बात कता पूरा फायदा शिक्षक उठाते हैं और स्कूलों से गायब रहते है. 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: