न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रिम्स का पेइंग वार्ड बनकर तैयार, आने वाले मरीजों को मिलेगी निजी अस्पताल जैसी सुविधाएं

73

Ranchi : रिम्स में जल्द ही मरीजों को निजी अस्पतालो जैसी वीआईपी सुविधा मिलनी शुरू हो जाएगी. रिम्स परिसर स्थित पेइंग वार्ड की इसी माह से शुरूआत हो जाएगी. 100 बेड का पेइंग वार्ड भवन बनकर तैयार है, जिसका उद्घाटन जल्द ही सूबे के मुख्यमंत्री रघुवर दास करेंगे. वहीं, चिकित्सकों एवं चिकित्सा कर्मियों की नियुक्ति की प्रक्रिया जल्द शुरू कर दी जाएगी.

इसे भी देखें- लोहरदगा : मेडिकल सेवाओं में गुणवत्ता और डॉक्टरों की सुरक्षा की मांग, आईएमए ने पीएम के नाम डीसी को सौंपा ज्ञापन

अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होगा पेइंग वार्ड

रिम्स में 100 बेड की क्षमता वाला पेइंग वार्ड एवं ट्रामा सेंटर तैयार हो चुका है, जहां मरीजों को बड़े अस्पतालों जैसी अत्याधुनिक सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी. वार्ड में टीवी, फ्रिज, एसी, बाथरूम में गीजर तथा अन्य तरह की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी. हर फ्लोर पर 24 घंटा चिकित्सकों एवं चिकित्सा कर्मियों की तैनाती रहेगी, लेकिन इन तमाम सुविधाओं के लिए चार्ज लिया जाएगा. अभी 1000 प्रतिदिन की दर निर्धारित करने पर विचार चल रहा है, लेकिन इसमें बदलाव भी हो सकता है.

इसे भी देखें- जानें, भारत बंद में कहां क्या हुआ, देश भर में जोरदार प्रदर्शन, कई जगहों पर हिंसा, अगलगी व उत्पात, एमपी में कर्फ्यू

पेइंग वार्ड अन्य वार्डों से बिल्कुल जुदा होगा

यहां सभी सेवाओं के लिए भुगतान करना पड़ेगा. पेइंग वार्ड एवं ट्रामा सेंटर के लिए प्रबंधन ने 79 चिकित्सक तथा 299 चिकित्सा कर्मियों की मांग सरकार से की है. बहाली के मुद्दे पर शीघ्र ही कैबिनेट से फैसला आ जाने की उम्मीद है. रिम्स निदेशक डॉ. आरके श्रीवास्तव एवं अधीक्षक डॉ एसके चौधरी ने ट्रामा सेंटर और पेइंग वार्ड का निरीक्षण किया था. निरीक्षण के बाद वस्तुस्थिति की जानकारी स्वास्थ्य सचिव को दी गई. उन्होंने बताया था कि हैंडओवर होने के बाद पेइंग वॉर्ड और ट्रॉमा सेंटर के संचालन के लिए तत्काल मैन पावर की जरुरत पड़ेगी. रिम्स के प्रभारी निदेशक डॉ आरके श्रीवास्तव ने कहा कि नए पेइंग वार्ड में राज्य स्तरीय सुविधा मरीजों को मिलेगी. जल्द ही इसका उद्घाटन किया जाएगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: