न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राज्यसभा चुनाव में प्रदीप यादव ने नहीं दिया यूपीए को वोट, जेवीएम सार्वजनिक करे अपना मत : अरूप चटर्जी

27

Ranchi: राज्यसभा के चुनावी नतीजों के बाद नयी-नयी बात निकल कर सामने आ रही है. एक तरफ जहां बीजेपी अमित महतो के मामले में कोर्ट जाने की बात कर रही है, तो वहीं अब अरूप चटर्जी ने जेवीएम के विधायक प्रदीप यादव पर आरोप लगाया है कि प्रदीप यादव ने यूपीए के उम्मीदवार धीरज साहू को वोट नहीं दिया है, बल्कि एनडीए के उम्मीदवार प्रदीप सोंथालिया को वोट दिया है. चुनाव के एक दिन के बाद अरूप यह आरोप प्रदीप यादव पर लगा रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा है कि चर्चा इस बात की हो रही है कि मैंने एनडीए के पक्ष में वोट किया, जो बिल्कुल गलत है. न्यूज विंग से बात करते हुए विधायक ने शुक्रवार को कहा था कि कांग्रेस और झामुमो को भरोसा दिलाने के लिए मैंने  इस तरह का 1 लिखा है. वहीं पुख्ता सूत्र की मानें तो गिनती के दौरान अरूप चटर्जी का वैलेट कांग्रेसियों ने पहचान भी लिया.

इसे भी पढ़ें – अमित महतो को सजा सुनाए जाने के बाद विधायकी हुई रद्द, राज्यसभा में मत हो कैंसिल, हाईकोर्ट जाने की तैयारी में पार्टी : बीजेपी

सुप्रीम कोर्ट में जायेगा मामला, हर बार छोटी पार्टी पर आरोप लगना हो बंद

अरूप चटर्जी ने न्यूज विंग से बात करते हुए बताया कि इस बार वो अपने-आप को सच साबित करने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेंगे. मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट जायेंगे. वो मांग करेंगे कि उनका मत सार्वजनिक हो. ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो जाये. उन्होंने बताया कि कोर्ट का सारा खर्च भी वो ही उठाएंगे. क्रांगेस जिस वकील से बोलेगी पैरवी कराएंगे. ताकि कांग्रेस भी बाद में किसी तरह का कोई आरोप ना लगे सके.

मन  मनव

इसे भी पढ़ें – झारखंड राज्यसभा चुनाव का कैल्कूलसः यूपीए को एक विधायक ने दिया धोखा,  बीजेपी को कोसने वाले ने ही दिया एनडीए का साथ

जेएमएम पार्टी पर भी उठ रही है ऊंगली

िुवलिुलव

अगर अरूप चटर्जी और प्रदीप यादव दोनों ने यूपीए के उम्मीदवार को वोट किया है तो क्या जेएमएम के किसी विधायक ने क्रॉस वोटिंग कर दिया. अगर जेएमएम के किसी विधायक ने क्रॉस वोटिंग किया है तो चुनाव के दौरान एजेंट रहे विनोद पांडे ने क्यों विरोध नहीं किया. तमाम तरह की बातों पर चर्चा हो रही है.

अरूप की बात सही, तो बंधु तिर्की भी संदेह के घेरे में

परसलरपसल

राज्यसभा चुनाव में एक क्रॉस वोटिंग जो पकड़ी गयी. वो भी जेवीएम के विधायक प्रकाश राम की पकड़ी गयी. पकड़ने और विरोध करने वाला पार्टी की तरफ से चुनाव के एजेंट बंधु तिर्की थे. उन्होंने ही प्रकाश के वोटिंग को लेकर विरोध जताया था. चुनाव आयोग को इसके खिलाफ लिखित शिकायत की गयी थी. लेकिन चुनाव आयोग ने कार्रवाई करने से मना कर दिया था, और प्रकाश राम के वोट की गिनती हुई थी. प्रदीप यादव के वोटिंग के वक्त भी पार्टी की तरफ से एजेंट बंधु तिर्की थे. अगर विधायक अरूप चटर्जी का आरोप सही है तो फिर बंधु तिर्की भी शक के घेरे में आते हैं. आखिर क्यों बंधु तिर्की ने क्रॉस वोटिंग होता देख विरोध किया. ना ही एजेंट की तरफ से चुनाव आयोग को कुछ लिखा गया. प्रकाश राम पर पार्टी ने कार्रवाई की, लेकिन प्रदीप यादव के मामले में पार्टी चुप क्यों है. यह सब बात कई तरह के सवाल खड़े कर रहे हैं.    

इसे भी पढ़ें – पहली बार हुआ ऐसा, 0.01 वोट से जीता राज्यसभा का कोई उम्मीदवार

ऐसा है चुनाव का समीकरण

मनवंिमुव

मकड़जाल में फंसा राज्यसभा का चुनावी समीकरण अब पानी की तरह साफ है.

धीरज साहू :  झामुमो 18 + कांग्रेस 7 + मासस 1= 26

प्रदीप सोंथालिया : बीजेपी 16 + आजसू 4 + गीता कोड़ा 1 + भानूप्रताप शाही 1 + एनोस एक्का 1 + प्रकाश राम 1 + ? 1 = 25

निरसा विधायक अरूप चटर्जी के मुताबिक 25 वां वोट करने वाले जेवीएम के विधायक प्रदीप यादव हैं. उन्होंने ही धीरज साहू की बजाय प्रदीप सोंथालिया के पक्ष में वोट किया. 

इसे भी पढ़ें – आचार संहिता में उज्ज्वला योजना का मुफ्त सिलेंडर बंटवा रहे डिप्टी मेयर प्रत्याशी संजीव विजयवर्गीय

बाबूलाल से मिलने पहुंचे धीरज साहू

मिुरलमुपरल

इधर जीत के बाद धीरज साहू को शुभकामनाएं देने का दौर जारी है. इसी क्रम में वो जेवीएम के अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी से मिलने पार्टी दफ्तर पहुंचे. दोनों ने एक-दूसरे को मिठाई खिलायी. हालांकि मुलाकात के दौरान दोनों के बीच क्या बात हुई यह निकल कर समाने नहीं आ पाया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: