न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राज्यसभा चुनाव : मायावती ने कहा – कुंडा के गुंडे के जाल में फंस गये अखिलेश, भाजपा पर भी बरसी

26

Lucknow : यूपी की पूर्व सीएम मायावती शनिवार को राज्यसभा चुनाव में बसपा प्रत्याशी की हार के बाद मीडिया के सामने आयीं और भाजपा पर जम कर बरसीं. मायावती ने आरोप लगाया कि भाजपा ने राज्यसभा चुनाव में संसदीय मर्यादाओं को ताक पर रख दिया. सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर विधायकों के बीच भय और खौफ का वातावरण पैदा किया. उन्होंने कहा कि विधायकों को सीबीआई का डर दिखाया गया, जिसकी वजह से क्रॉस वोटिंग हुई. मीडिया के समक्ष मायावती ने सपा-बसपा के गठबंधन के भविष्य पर कहा कि कोई भी एसपी-बीएसपी के साथ को तोड़ने में कामयाब नहीं होगा. मायावती ने कहा कि कल के नतीजों से सपा-बसपा गठबंधन पर प्रभाव नहीं पड़ेगा. मायावती ने अखिलेश यादव को सलाह देते हुए कहा कि अखिलेश यादव कुंडा के गुंडे के जाल में फंस गये, अगर ऐसा ना होता तो शायद हम यह सीट बचा लेते, मैं उसकी जगह होती तो भले मेरा उम्मीदवार हार जाता, लेकिन उसके उम्मीदवार को हारने नहीं देती. यह उसके अनुभव की कमी है, लेकिन मैं उससे अनुभवी हूं, इसलिए इस गठबंधन को नहीं टूटने दूंगी.

इसे भी पढ़ें – क्या आप हैं नरेंद्र मोदी एंड्रॉइड एप यूजर, तो आपकी निजी सूचनाएं ले गयी विदेशी कंपनी, फ्रांसीसी शोधकर्ता का दावा

गेस्ट हाउस कांड में अखिलेश यादव को मायावती ने दी क्लीन चिट

मायावती ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि अखिलेश यादव धीरे-धीरे सियासत का तजुर्बा सीख जायेंगे. इस क्रम में मायावती ने 1995 में हुए गेस्ट हाउस कांड में एसपी प्रमुख अखिलेश यादव को क्लीन चिट देते हुए कहा कि वह उस समय राजनीति में नहीं थे. भाजपा गेस्ट हाउस कांड के बहाने हमारे और अखिलेश के बीच दरार पैदा करना चाहती है, लेकिन ऐसा नहीं होगा. कहा गया कि राजा भैया और उनके समर्थक निर्दलीय विधायक विनोद सरोज ने भाजपा को वोट दिया. हालांकि राजा भैया ने शुक्रवार को कहा था कि वह अखिलेश के साथ हैं और उनके उम्मीदवार को वोट देंगे. राजा भैया के इस बयान के बाद अखिलेश यादव ने भी उन्हें धन्यवाद देते हुए एक ट्वीट किया था, लेकिन सपा अध्यक्ष ने अब राजा भैया को शुक्रिया कहने वाला ट्वीट डिलीट कर लिया है.

इसे भी पढ़ें – महज साढ़े तीन सौ रुपये में बिकती है आपकी फेसबुक लॉग-इन जानकारी !

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: