न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राज्यपाल से चेंबर की गुहार : चुनाव के साथ-साथ शादी का सीजन, अकारण न हो कैश की जब्ती

19

Ranchi : नगर निकाय चुनाव को देखते हुए सामान्‍य जीवन में पैसों के लेन-देन पर आदर्श चुनाव आचार संहिता के तहत कैश जब्‍ती की प्रशासनिक कार्रवाई को लेकर फेडेरेशन ऑफ झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्‍ट्रीज के कार्यकारिणी सदस्य प्रवीण लोहिया ने झारखंड के राज्‍यपाल और चुनाव आयोग को पत्र लिखा है. पत्र के माध़्यम से उऩ्होंने आम जनता और व्‍यापारी वर्ग की परेशानियों को सामने रखा है. प्रवीण लोहिया ने राज्यपाल और चुनाव आयोग को पत्र लिख कर आम जन को विज्ञापन के जरिये सूचित करने का आग्रह किया कि चुनाव के दौरान आम जनता और व्यापारियों को पैसा लाने और ले जाने में परेशानी न हो. इसके लिए उचित दिशा निर्देश प्रकाशित किया जाना चाहिए.

Ranchi : नगर निकाय चुनाव को देखते हुए सामान्‍य जीवन में पैसों के लेन-देन पर आदर्श चुनाव आचार संहिता के तहत कैश जब्‍ती की प्रशासनिक कार्रवाई को लेकर फेडेरेशन ऑफ झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्‍ट्रीज के कार्यकारिणी सदस्य प्रवीण लोहिया ने झारखंड के राज्‍यपाल और चुनाव आयोग को पत्र लिखा है. पत्र के माध़्यम से उऩ्होंने आम जनता और व्‍यापारी वर्ग की परेशानियों को सामने रखा है. प्रवीण लोहिया ने राज्यपाल और चुनाव आयोग को पत्र लिख कर आम जन को विज्ञापन के जरिये सूचित करने का आग्रह किया कि चुनाव के दौरान आम जनता और व्यापारियों को पैसा लाने और ले जाने में परेशानी न हो. इसके लिए उचित दिशा निर्देश प्रकाशित किया जाना चाहिए. 

इसे भी पढ़ें – पाकुड़ मनरेगा घोटाला : जनसंवाद में शिकायत के बाद टूटी प्रशासन की कुंभकरण वाली नींद, एसडीएम जांच करने पोस्ट ऑफिस पहुंचे 

 

प्रवीण लोहिया हाईकोर्ट में याचिका दायर कर चुके हैं

प्रवीण लोहिया ने अपने पत्र में बताया है कि इस सन्दर्भ में उनके द्वारा झारखंड हाईकोर्ट में याचिका WPPIL NO 1965/2014 दायर की गयी थी. जिसमें अधिकारियों को चुनाव आयोग और सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देश का अनुपालन करने की हिदायत दी जाने की बात थी.

इसे भी पढ़ें – रांची एसडीओ ऑफिस में प्रमाण पत्र लेने में बढ़ी परेशानी, लोग लगा रहे बाबूओं के चक्‍कर

 

कोई परिवार विवाह की खरीदारी करने बाजार जाता हे, तो उसे भी पकड़ लिया जाता है 

श्री लोहिया ने कहा कि चुनाव आयोग द्वारा यह स्पष्ट निर्देश दिया गया है कि किसी भी आम जन और व्यापारी की जांच चुनाव में बिना समुचित वीडियो रिकॉर्डिंग के करना नियम संगत नहीं हैऐसे अधिकारियों पर सख्त कार्यवाही की जानी चाहिए. उन्‍होंने कहा है कि लगन के समय को ध्यान में रखते हुए अगर कोई परिवार विवाह की खरीदारी करने बाजार जाये तो उसे भी पकड़ लिया जाता है. आम तौर पर ग्रामीण क्षेत्रों और राष्ट्रीय राजमार्ग पर तैनात पुलिसकर्मी ऐसा कार्य करते नजर आये हैं.  इस बात को प्रमाणित करने के लिए प्रवीण लोहिया ने अपने लिखे पत्र के आलोक में अख़बार की प्रति भी संलग्न की थी. प्रवीण लोहिया ने पत्र में कहा है कि झारखंड में अभी निगम चुनाव होना है और वैवाहिक सीजन भी चालू है;  ऐसे में व्यापारियो और आम नागरिकों को असुविधा न हो, इसलिए उन्‍होंने राज्यपाल और चुनाव आयोग के साथ-साथ प्रत्र की प्रति मुख्य सचिव और डीजीपी  झारखंड को भी भेजी है.

 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: